<

पुणे, दिल्ली और बेंगलूर में मैंने बम रखे थे: भटकल

  • पुणे, दिल्ली और बेंगलूर में मैंने बम रखे थे: भटकल
You Are HereNational
Tuesday, February 25, 2014-8:45 PM

नई दिल्ली: इंडियन मुजाहिदीन के सह संस्थापक यासीन भटकल ने पुणे की जर्मन बेकरी और बेंगलूर के चिन्नास्वामी स्टेडियम में आईईडी रखा था और साल 2008 में दिल्ली में हुए सिलसिलेवार धमाकों के लिए विस्फोटक प्रदान किया था। उसने मजिस्ट्रेट के समक्ष इन बातों को स्वीकार किया। पिछले साल अक्तूबर में सीआरपीसी की धारा 164 के तहत मजिस्ट्रेट के समक्ष दर्ज कराए गए अपने इकबालिया बयान में भटकल ने कहा कि मई 2008 में जयपुर में सिलसिलेवार धमाके उसके द्वारा तैयार किए गए आईईडी की क्षमता की जांच करने के लिए किए गए थे। उसने यह भी कहा कि आईईडी तैयार करने में वह एक हॉलीवुड फिल्म से प्रेरित हुआ।

बयान को भटकल और तीन अन्य के खिलाफ दायर आरोप पत्र के साथ राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने दिल्ली की अदालत में दायर किया है। भटकल ने इस बात को भी स्वीकार किया कि उसने 26 जुलाई 2008 को अहमदाबाद में हुए सिलसिलेवार धमाकों के लिए आईईडी तैयार किया था। अहमदाबाद में किए गए 21 धमाकों में 50 से अधिक लोग मारे गए थे। भटकल ने 2001 में कपड़ों और परफ्यूम का व्यापार शुरू किया था। भटकल ने मजिस्ट्रेट से कहा था, ‘‘हमने (यासीन और उसके सहयोगियों) उसके अनुसार पुणे की जर्मन बेकरी में 13 फरवरी 2010 को विस्फोट किया और हमने भटकल बंधुओं (रियाज और इकबाल) के निर्देश पर इन सारी गतिविधियों को अंजाम दिया। उसके बाद मैंने 16 अप्रैल 2010 को बेंगलूर स्थित चिन्नास्वामी स्टेडियम में पांच आईईडी रखे।’’

भटकल ने कहा, ‘‘19 सितंबर 2010 को बटला हाउस मुठभेड़ की बरसी के दिन, मैंने-दिल्ली के जामा मस्जिद इलाके में बम रखा। मैंने आईईडी रखा।’’ मुंबई के जावेरी बाजार और ओपरा हाउस में जुलाई 2011 में हुए सिलसिलेवार धमाकों में अपनी भूमिका के संबंध में भटकल ने कहा कि उसने खुद वहां दो आईईडी लगाए थे। उस सिलसिलेवार धमाके में 20 से अधिक लोग मारे गए थे और 125 अन्य घायल हुए थे। भटकल ने कहा कि 13 सितंबर 2008 को दिल्ली में हुए सिलसिलेवार धमाके को आईएम के आजमगढ़ समूह के सदस्यों ने अंजाम दिया था और उसने हमले के लिए 10 आईईडी प्रदान किए थे। उसने मजिस्ट्रेट से कहा, ‘‘रियाज भटकल (आईएम के सह संस्थापक) और आजमगढ़ समूह दिल्ली में हुए सिलसिलेवार धमाकों के लिए जिम्मेदार हैं। मेरी 10 आईईडी की आपूर्ति करने के अलावा उन धमाकों में और कोई भूमिका नहीं थी।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You