अगर अध्यादेश का रास्ता अपनाया जाता है तो विरोध करेंगे: राजनाथ

  • अगर अध्यादेश का रास्ता अपनाया जाता है तो विरोध करेंगे: राजनाथ
You Are HereNational
Wednesday, February 26, 2014-6:00 PM

 नई दिल्ली: भ्रष्टाचार विरोधी दो विधेयकों पर केंद्र द्वारा अध्यादेश लाए जाने की तैयारी के बीच भाजपा ने आज कहा कि अगर यह रास्ता अपनाया जाता है तो वह राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से अपना विरोध जताएगी। भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने वार्ड स्तरीय पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘अध्यादेश विशेष स्थितियों में जारी किया जाता है और संसद के दो सदनों के बीच जारी होता है । हम (भाजपा) इस वक्त अध्यादेश के खिलाफ हैं और भारत के राष्ट्रपति के समक्ष विरोध दर्ज कराएंगे।’’

सिंह ने आरोप लगाए कि लगातार भ्रष्टाचार और घोटाले के लिए संप्रग सरकार जिम्मेदार है और पांच लाख करोड़ रुपये से ज्यादा के भ्रष्टाचार इसके कार्यकाल में हुए। सिंह ने कहा, ‘‘कांग्रेस अब अपने नींद से जाग गई है और भ्रष्टाचार निरोधक अध्यादेश की वकालत कर रही है जबकि देश लोकसभा चुनावों के लिए तैयार हो रहा है।’’ राहुल गांधी के दबाव में सरकार भ्रष्टाचार निरोधक विधेयकों पर दो अध्यादेश के साथ तीन अन्य विधेयक लाने की तैयारी में है जो हाल में खत्म हुए संसद सत्र के दौरान पारित नहीं हो सके।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You