अब ऊंटों को मिलेगा विशेष दर्जा!

  • अब ऊंटों को मिलेगा विशेष दर्जा!
You Are HereRajasthan
Thursday, February 27, 2014-10:23 AM

जयपुर: राजस्थान में ऊंटों की संख्या में अचानक आई गिरावट का संज्ञान लेते हुए वसुंधरा राजे सरकार ने इस जानवर को विशेष दर्जा देने का फैसला किया है। ताकि इसकी हत्या, तस्करी व अंतर्राजयीय व्यापार पर रोक लग सके।

राज्य के पशुपालक विभाग के निदेशक राजेश मान ने इस सिलसिले में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की तरफ से एक रिपोर्ट तैयार की जिसमें कहा गया है कि ऊंटों की 5 वर्षीय गणना में 1982 में ऊंटों की संख्या 10 लाख थी जोकि 1997 में घटकर 9 लाख और 2006 में 6 लाख रह गई।

रिपोर्ट के अनुसार ऊंटों की जनसंख्या राजस्थान में है जहां इसकी आबादी 70 प्रतिशत है। 2007 में की गई ऊंटों की गणना के अनुसार राजस्थान में 3 लाख ऊंट थे जबकि 1997 में इनकी संख्या 6.69 थी। अपुष्ट सूत्रों के अनुसार ऊंटों की कम संख्या का एक कारण यह भी है कि इसे राज्य के बाहर विशेष तौर पर बंगलादेश, आंध्र प्रदेश और हरियाणा आदि राज्यों में कटान के लिए बेचा जाता है। जहां इसके मांस की बहुत मांग है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You