बीजेपी ने रक्षा मंत्री एके एंटनी के इस्तीफे की मांग की

  • बीजेपी ने रक्षा मंत्री एके एंटनी के इस्तीफे की मांग की
You Are HereNcr
Thursday, February 27, 2014-12:13 PM

नई दिल्ली: रक्षा मंत्री ए के एंटनी ने आज कहा कि कल पनडुब्बी हादसे के संदर्भ में ‘‘व्यथित’’ एडमिरल डी के जोशी का नौसेना प्रमुख के पद से इस्तीफा स्वीकार करने से पहले उन्होंने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मुलाकात की थी और ‘‘प्रत्येक व्यक्ति’’ के साथ विचारविमर्श किया था।

जोशी का इस्तीफा तत्काल स्वीकार करने की वजह से पूर्व शीर्ष नौसेना अधिकारियों की आलोचनाओं के निशाने पर आए एंटनी ने कहा ‘‘मैंने प्रत्येक व्यक्ति के साथ विचारविमर्श किया था। मैंने प्रधानमंत्री से भी मुलाकात की थी। आखिर में, हमने इस्तीफा स्वीकार करने का फैसला किया।’’  नौसेना प्रमुख को ‘‘बहुत अच्छे एडमिरल’’ और ‘‘शानदार व्यक्ति’’ बताते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि पूरे घटनाक्रम को लेकर वह ‘‘दुखी’’ हैं। एडमिरल जोशी के इस्तीफे के फैसले के बाद रक्षा मंत्री की यह पहली प्रतिक्रिया है। 

उन्होंने यहां संवाददाताओं को बताया ‘‘कल एडमिरल जोशी ने निजी तौर पर मुझसे मुलाकात की और अपना इस्तीफा मुझे सौंप दिया। उन्होंने मुझसे तत्काल प्रभाव से इस्तीफा स्वीकार करने का अनुरोध किया।’’ रक्षा मंत्री के अनुसार, एडमिरल जोशी ने सुझाव दिया कि जब तक कोई अंतिम व्यवस्था नहीं कर ली जाती, तब तक नौसेना उप प्रमुख वाइस एडमिरल रॉबिन धोवन को कार्यकारी नौसेना प्रमुख बनाया जाए।

वहीं, पनडुब्बी आईएनएस सिंधुरत्न हादसे पर बीजेपी ने रक्षा मंत्री के इस्तीफे की मांग की है। पार्टी के प्रवक्ता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि नौ सेना को सरकार गंभीरता से नहीं लेती। नौ सेना की समस्याओं की लगातार उपेक्षा हो रही है। जोशी और एंटनी के रिश्ते पहले से ही तनावपूर्ण है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You