‘अब देश में गाडिय़ां देंगी बेहतर माइलेज’

  • ‘अब देश में गाडिय़ां देंगी बेहतर माइलेज’
You Are HereNational
Friday, February 28, 2014-10:58 AM

नई दिल्ली: ऊर्जा दक्षता मानक तय करने वाली एजैंसी ‘ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी’ (बी.ई.ई.) ने देश में कॉर्पोरेट औसत ईंधन खपत यानी सी.ए.एफ.सी. नियमों को अधिसूचित कर दिया है हालांकि ऑटो उद्योग ने इस पर ऐतराज जताया है। इन नियमों पर अमल होते हुए विकसित देशों की तरह अब देश में भी गाडिय़ां बेहतर माइलेज देंगी। नियमों के मुताबिक फिलहाल प्रति लीटर 16 किलोमीटर का माइलेज देने वाली यात्री कार, वैन और उपयोगी वाहन बनाने वाली कंपनियों को अपने वाहनों को वर्ष 2016-17 तक 18.2 लीटर प्रति किलोमीटर और वर्ष 2020-21 तक 22 किलोमीटर का औसत माइलेज देने लायक बनाना होगा। ऐसा नहीं करने वाली कंपनियों पर जुर्माना लगाया जाएगा।

ऑटो उद्योग ने जताया ऐतराज: ऑटो उद्योग ने इन नियमों पर कड़ा ऐतराज जताया है। सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्यूफैक्चर्स ‘सियाम’ ने कहा है कि ऑटो उद्योग के लिए ये नियम वर्ष 2017 में लागू होने वाले थे लेकिन सरकार ने इन्हें पहले ही लागू करने का मन बना लिया है। इसके लिए इतनी जल्दी तैयारी करना मुश्किल है। नए माइलेज नियम लागू होने के साथ ही भारत अब अमरीका, जर्मनी, जापान और चीन जैसे देशों की कतार में आ गया है जहां नियमों के उल्लंघन पर कड़े दंड का प्रावधान है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You