लखनऊ पुलिस ने सुब्रत राय को किया गिरफ्तार

You Are HereNational
Friday, February 28, 2014-3:34 PM

लखनउ: सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुपालन में आज पुलिस ने सहारा इंडिया परिवार के प्रमुख सुब्रत राय सहारा को हिरासत में ले लिया।  वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रवीन कुमार ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि राय को सुबह उनके निवास से हिरासत में लिया गया है। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने कोई अंतरिम राहत नहीं प्रदान की और मामले की त्वरित सुनवाई से इनकार कर दिया।

सहारा प्रमुख की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता एवं जाने माने कानूनविद् राम जेठमलानी ने कोर्ट को अवगत कराया कि उनके मुवक्किल ने लखनऊ पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है और इस मामले की गंभीरता के मद्देनजर त्वरित सुनवाई की जाये लेकिन कोर्ट ने इससे साफ इनकार कर दिया। कोर्ट ने स्पष्ट कर दिया कि इस मामले में अब कोई भी सुनवाई चार मार्च से पहले नहीं होगी। शीर्ष अदालत द्वारा सहारा प्रमुख को अंतरिम राहत नहीं दिये जाने से अब उन्हें कम से कम चार मार्च तक हिरासत में ही रहना होगा।

बतां दें कि सुप्रीम कोर्ट ने सहारा के खिलाफ गैर जमानती वारण्ट जारी किया था और आगामी चार मार्च तक उन्हें कोर्ट में पेश करने का आदेश दिया था। कोर्ट के आदेश के बावजूद व्यक्तिगत तौर पर सुनवाई के लिए हाजिर नहीं होने के बाद न्यायालय ने यह वारण्ट जारी किया था।

वहीं इससे पहले सहारा प्रमुख सुब्रत राय ने आज कहा कि वह गिरफ्तारी से भाग नहीं रहे हैं और सुप्रीम कोर्ट आज उन्हें जो भी निर्देश देगा वह उसका ‘‘बिना किसी शर्त पालन करने’’ को तैयार हैं। राय ने कहा कि वह अब भी लखनउ में हैं और ‘‘चिकित्सकों के एक पैनल’’ से विचार विमर्श करने के लिए कुछ देर के लिए बाहर गए थे।

राय ने कहा कि उन्होंने ‘‘पुलिस को पहले ही अपने कर्तव्य का पालन करने के लिए कहा है।’’ इससे एक ही दिन पहले पुलिस सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार उन्हें गिरफ्तार करने उनके घर गई थी लेकिन उसे वहां सहारा प्रमुख नहीं मिले थे।  राय ने बयान जारी करके सुप्रीम कोर्ट से अपील की है कि वह उन्हें ‘‘तीन मार्च 2014 तक घर में नजरबंद रहकर अपनी बीमार मां के पास रहने की अनुमति दे।’’

उन्होंने कहा कि यदि कोर्ट चाहता है तो वह आज भी दिल्ली पहुंचने को तैयार है। सुप्रीम कोर्ट ने राय के खिलाफ 26 फरवरी को गैर जमानती वारंट जारी करके पुलिस से उन्हें गिरफ्तार करने और चार मार्च को अपने समक्ष पेश करने को कहा था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You