<

गुरुद्वारे के ग्रंथी की हत्या में 4 को उम्रकैद

  • गुरुद्वारे के ग्रंथी की हत्या में 4 को उम्रकैद
You Are HereNational
Friday, February 28, 2014-2:37 PM

नई दिल्ली: गुरुद्वारे के मुख्य ग्रंथी की हत्या मामले में दिल्ली की एक अदालत ने एक महिला समेत 4 आरोपियों को दोषी मानते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई है। इनमें मां-बेटा भी शामिल हैं। 4 साल पहले आदर्श नगर इलाके में गुरुद्वारे केमुख्य ग्रंथी की हत्या कर दी गई थी। रोहिणी जिला अदालत स्थित अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश डॉ. कामिनी लॉ ने सुखपाल सिंह (28), रंजीत सिंह (28), जसबीर कौर (42) और जसबीर कौर का बेटा मलकित सिंह (22) को हत्या, आपराधिक साजिश व सबूतों को नष्ट करने का दोषी करार दिया गया। 

अभियोजन पक्ष केअनुसार पीड़ित और दोषी अलग-अलग समूहों से ताल्लुक  रखते हैं। एक का ताल्लुक ‘बुद्ध दल’ और दूसरे का धार्मिक पंथ ‘निहंग सिख’ से है। दोषियों ने आजादपुर में ‘रब दा कुट्टा’ गुरुद्वारे के महंत प्रमुख बाबा लखबीर सिंह की हत्या कर दी। इसके पीछे  मुख्य वजह यह थी कि जसबीर कौर के पति इस गुरुद्वारा के प्रमुख थे, लेकिन पंजाब पुलिस ने उसे किसी मामले में गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद जसबीर कौर को उसके पति के पद पर मनोनित कर लिया गया। दूसरे पक्ष ने इसका विरोध  किया और उसे जबरन इस पद से हटाकर लखबीर सिंह को मुख्य ग्रंथी बना दिया। इससे जसबीर कौर अपमानित महसूस करने लगी और उसने अपने बेटे मलकित और 2 अन्य दोषियोंं केसाथ उसकी हत्या की साजिश रची, ताकि दोबारा से गुरुद्वारे में उसका प्रभुत्व कायम हो सके। गुरुद्वारा आधा एकड़ क्षेत्र मेंं फैला हुआ है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You