आय से अधिक संपत्ति मामला: जयललिता के खिलाफ याचिका खारिज

  • आय से अधिक संपत्ति मामला: जयललिता के खिलाफ याचिका खारिज
You Are HereNational
Friday, February 28, 2014-10:07 PM

बेंंगलूर: एक स्थानीय अदालत ने आज यहां तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता और तीन अन्य के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के मामले में विशेष सरकारी वकील की एक याचिका खारिज कर दी। याचिका में जयललिता की जब्त की गई चांदी की वस्तुएं अदालत के समक्ष पेश करने के निर्देश देने की अपील की गई थी।

न्यायाधीश माइकल डी’ कुन्हा ने विशेष सरकारी वकील भवानी सिंह की याचिका यह कहते हुए ठुकरा दी कि उन्होंने केवल कार्यवाहियों में देरी कराने के उद्देश्य से याचिका दायर की। उन्होंने कहा, ‘‘एसपीपी ने पिछले डेढ़ साल में इस तरह की याचिका दायर करने में कोई रूचि नहीं दिखायी। अब एकाएक उन्होंने केवल इसलिए याचिका दायर की ताकि कार्यावाही में देरी हो।’’

तमिलनाडु सतर्कता एवं भ्रष्टाचार रोधी निदेशालय (डीवीएसी) ने 15 फरवरी को एक रिपोर्ट दाखिल करते हुए कहा था कि जयललिता के तत्कालीन सचिव वी भास्करन जिन्हें चांदी के सामान सौंपे गए थे, उनका आत पता नहीं है। डीवीएसी ने साथ ही कहा कि चेन्नई नगरपालिका के पास ऐसा कोई दस्तावेज नहीं है जिससे भास्करन के निधन की बात का पता चले। हालांकि द्रमुक महासचिव के अन्बाझगान के वकील ने इस साल 9 जनवरी को वेल्लौर नगरपालिका द्वारा जारी भास्करन का मृत्यु प्रमाणपत्र पेश किया। अन्बाझगान की याचिका पर ही मामला बेंगलूर से चेन्नई स्थानांतरित किया गया था।

प्रमाणपत्र के अनुसार पिछले साल 2 दिसंबर को भास्करण का निधन हो गया। न्यायाधीश ने विशेष सरकारी वकील और जयललिता के वकील को मृत्यु प्रमाणपत्र का सत्यापन करने के निर्देश दिए। उन्होंने साथ ही कहा कि सिंह का रवैया सही नहीं है और अविश्वसनीय है और उन्हें भास्करन के निधन के बारे मेंं पता था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You