<

राष्ट्रपति शासन दुर्भाग्यपूर्ण: वाईएसआर कांग्रेस

  • राष्ट्रपति शासन दुर्भाग्यपूर्ण: वाईएसआर कांग्रेस
You Are HereNational
Saturday, March 01, 2014-8:29 AM

हैदराबाद: वाईएसआर कांग्रेस ने 10 दिनों के मंथन के बाद आंध्रप्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाने के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार बनाने की अपनी जिम्मेदारी से भाग रही है जिससे पता लगता है कि इस पार्टी का राज्य तथा देश से सफाया होने जा रहा है।
  
वाईएसआर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डॉ एम वी मैसूर रेड्डी ने यहां संवाददाताओं से कहा आंध्रप्रदेश की जनता कांग्रेस को इस उम्मीद के साथ सत्ता में लाई थी कि वह स्थिर सरकार देगी लेकिन पार्टी ने राज्य में सरकार बनाने की उम्मीद ही छोड़ दी और राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश कर दी। इससे पता लगता है कि पार्टी पूरी तरह समाप्त होने की कगार पर पहुंच गई है।
 
केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा कि संसद के ऊपरी सदन के लिए चुने गए इस व्यक्ति पर आंध्रप्रदेश पुनर्गठन विधेयक को तैयार करने की जिम्मेदारी थी लेकिन उसने इस विधेयक में तमाम खामियां छोड़ी। उन्होंने सीमांध्र के लिए तमाम आश्वासन दिए लेकिन इनमें से एक भी पूरा होने वाला नहीं है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You