‘आप’ बदल सकती है बीजेपी के गढ़ का चुनावी गणित

  • ‘आप’ बदल सकती है बीजेपी के गढ़ का चुनावी गणित
You Are HereNational
Sunday, March 02, 2014-4:20 PM

इंदौर: मध्यप्रदेश की इंदौर सीट से आम आदमी पार्टी (आप) के लोकसभा उम्मीदवार के रूप में वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता अनिल त्रिवेदी के नाम की घोषणा के बाद भाजपा के 25 वर्ष पुराने गढ़ में इस बार त्रिकोणीय चुनावी मुकाबले की प्रबल संभावनाएं नजर आ रही हैं। वरिष्ठ भाजपा नेता सुमित्रा महाजन वर्ष 1989 से लेकर अब तक बतौर सांसद इंदौर लोकसभा क्षेत्र की नुमाइंदगी कर रही हैं।

पिछले सात लोकसभा चुनावों में इस सीट पर भाजपा और कांग्रेस के बीच ही निर्णायक चुनावी मुकाबला होता आया है। लेकिन सियासी जानकारों का अनुमान है कि भाजपा के इस मजबूत गढ़ में आप के तीसरी ताकत के रूप में चुनावी मैदान में उतरने के बाद हार-जीत के समीकरण बदल सकते हैं।

इंदौर लोकसभा क्षेत्र में बदलाव की चुनावी लहर का दावा करते हुए आप के उम्मीदवार अनिल त्रिवेदी ने कहा, ‘इंदौर में कांग्रेस और भाजपा की दो ध्रुवीय राजनीति ने जनता के वास्तविक मुद्दों को सियासी परिदृश्य से बाहर कर दिया है। दोनों दलों के नेता आम लोगों के बजाय अपने वर्तमान और भविष्य को उज्ज्वल बनाने के लिये काम कर रहे हैं। इस असंतोषपूर्ण यथास्थिति के खिलाफ जनता आगामी लोकसभा चुनावों में बदलाव का मन बना चुकी है।’ यह पूछे जाने पर कि आप सरीखी नयी पार्टी चुनावी मैदान में भाजपा और कांग्रेस जैसे स्थापित दलों के सामने कैसे टिक सकेगी, 62 वर्षीय सामाजिक कार्यकर्ता ने छूटते ही कहा, ‘हमें कोई मंगल ग्रह से आकर वोट नहीं देगा। हम आगामी लोकसभा चुनावों में भाजपा और कांग्रेस के परंपरागत वोट बैंक को तोड़कर अपने लिये मत जुटायेंगे।’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You