<

ऑनर किलिंग: 3 लड़कियों की चढ़ाई गई ‘बलि’

  • ऑनर किलिंग: 3 लड़कियों की चढ़ाई गई ‘बलि’
You Are HereUttar Pradesh
Sunday, March 02, 2014-6:01 PM

बहेडी: कहा जाता है कि ‘यत्र नार्यस्तु पूजयन्ते रमन्ते तत्र देवता’ अर्थात जहां नारी की पूजा होती है वहीं देवता निवास करते हैं। किन्तु दुर्भाग्य यह है कि नारीयों का शोषण इस कदर बढ़ गया है कि महिलाओं को झूठी शान की खातिर उनके ही घर वाले मौत के घाट उतार दे रहे हैं। हकीकत बेहद खौफनाक है। पिछले डेढ़ महीने में बहेड़ी में अपनों ने ही अपने उन जिगर के टुकड़ो को मौत के घाट उतार दिया जो कभी उन्हे उंगली पकड़कर चलना सिखाते थे। आनर किलिंग का यह मामला देवरनियां गांव की है। जहां पर एक प्रेमी जोड़े घर से भाग गये थे। और जिन्होने कुछ दिन दिल्ली में बिताकर अपने घर वापस लौट आये थे। अगले दिन रात में जब लड़की घर में नहीं थी तो घर वाले उसके प्रेमी के घर जा धमके और वहां से लड़की को अपने घर ले आए। घर पर लड़की के ही घरवालों ने उसे मौत के घाट उतार दिया। लड़की की मौत की खबर पूरे कस्बे में फैल गयी जिन्हे लोगों ने आनर किलिंग का मामला बताया है। गांव से मिली खबर के मुताबिक इस मामले को पूरी तरह दबा दिया गया था। प्रेमी-जोड़े के भागने की जानकारी पहले से ही पुलिस को थी।


बाप ने गला दबाकर बेटी को मारा-
इस घटना की आग अभी बुझी ही नही थी कि एक और दिल दहलाने वाली घटना सामने आ गयी। यह खौफनाक घटना गोंड़ा में 26 जनवरी की रात को घटी। बाप ने अपनी बेटी को रंगे हाथों प्रेमी के साथ पकड़ लिया था जिससे वह आग बबूला हो गया और घर ले जाकर बेटी की गला दबाकर हत्या कर दी। और लाश को रिक्शा पर ले जाकर खेतों में गाड़ दिया। इस खबर के फैलते ही गांव वालों ने पुलिस से शिकायत की पुलिस ने मौके पर पहुंचकर हत्यारे बाप को हिरासत में ले लिया और लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।


हत्या को घटना बताया-
तीसरी घटना नानकार गांव की है। इस घटना में लड़की के घरवालों ने अपनी लड़की को मौत के घाट इसलिए उतार दिया कि उसका किसी लड़के का साथ अफेसर चल रहा था। यहां भी लड़की को इज्जत की खातिर मार दिया गया। और उसके घर मालों ने इस घटना को मात्र हादसा मानकर चल रहे हैं। हत्या की घटना का पर्दाफाश उसकी मेडि़कल रिपोर्ट आने के बाद ही किया जायेगा। पुलिस ने आरोपियों को
कब्जे मे ले लिया है।


चार भाइयों की इकलौती बहन-
तीसरी घटना नानकार गांव की है जहां पर अपने चार भाईयों की इकलौती बहन को भाईयों ने मिलकर मौत के घाट उतार दिया। लाडली बहन को मजदूर अंगनलाल खूब पढ़ाना चाहता था। उनके भाईयों को शक था कि उनकी बहन का किसी लड़के के साथ अफेसर है। इस खबर को सुनकर भाईयों ने उसे मौत के घाट उतार दिया। ग्रामीणों की मानें तो हंसमुख स्वभाव की पुष्पा की मौत सामान्य रूप से नही हुई है उसकी हत्या की गयी है। जिस तरह से घटना को अंजाम दिया गया, उससे साफ है कि परिजनों ने पहले ही इस बाबत योजना बनाकर रखी थी। मौका मिलते ही उन्होंने लड़की को रास्ते से हटा दिया। ऑनर किलिंग की घटना से एक बार फिर इंसानित शर्मसार हुई है,जो हमारे देश की प्रगति में बाधा है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You