पानी माफिया मामले में एस.एच.ओ. पर गाज

  •   पानी माफिया मामले में एस.एच.ओ. पर गाज
You Are HereNcr
Monday, March 03, 2014-1:32 AM
नई दिल्ली (सतेन्द्र त्रिपाठी): द्वारका इलाके में पिछले 2 साल से खुलेआम आम चल रहे पानी माफिया के धंधे में लापरवाही बरतने की गाज एस.एच.ओ. पर गिरी है। एस.एच.ओ. का तबादला सुरक्षा शाखा में कर दिया गया है। इस एस.एच.ओ. के खिलाफ विभागीय जांच(डी.ई.) के आदेश पहले ही हो चुके हैं। 
 
पानी माफिया से मिलीभगत के आरोप में डी.डी.ए., जलबोर्ड या फिर एस.डी.एम. कार्यालय के अधिकारियों पर पर अभी तक कोई एक्शन नहीं हुआ है। इस मामले में पुलिस के हाथ अभी तक केवल 8 कर्मचारियों तक ही पहुंच पाए हैं। 20 दिन में पुलिस इस मामले में कोई खास प्रगति नहीं कर पाई है। 
 
गत 10 फरवरी को नवोदय टाइम्स ने इस मामले का खुलासा किया था। दक्षिण-पश्चिम जिला पुलिस उपायुक्त सुमन गोयल की देखरेख में अतिरिक्त उपायुक्त दिनेश कुमार गुप्ता के नेतृत्व में निरीक्षक के.एस.एन. सुबुद्धि की टीम ने छापा मारकर 8 लोगों को गिरफ्तार किया था। इस मामले में आधा दर्जन टैंकर भी जब्त किए गए थे। 
 
द्वारका सेक्टर-23 थाने के इलाके में डी.डी.ए. लैंड से हो रही इस पानी की चोरी पर उपायुक्त ने सख्ती दिखाई। उन्होंने तत्काल ही एसएचओ रामकिशन के खिलाफ विभागीय जांच(डी.ई.) की अनुशंसा कर दी। लेकिन माना यह जा रहा था कि इनके इसी थाने में रहते जांच में प्रभाव पड़ सकता है। इसी कारण एस.एच.ओ. का तबादला किए जाने का मामला चल रहा था।
 
इस देखते हुए आयुक्त ने एस.एच.ओ. को सुरक्षा शाखा में भेज दिया। इस पूरे गोरखधंधे की शिकायत गैर सरकारी संगठन एक संघर्ष के अध्यक्ष शोभित चौहान पुलिस सहित विभिन्न विभागों से की थी। इसमें उन्होंने पुलिस पर भी लापरवाही का आरोप लगाया था। पुलिसिया दुव्र्यवहार पर तत्कालीन मुख्यमंत्री कार्यालय ने भी हस्तक्षेप किया था। द्वारका से हटाए एस.एच.ओ. की जगह पर अब नेब सराय थाने के निरीक्षक तफ्तीश को तरक्की देकर द्वारका सैक्टर-23 थाने का एस.एच.ओ. बनाया गया है। 
 
इस मामले में गंभीर बात यह है पानी माफिया के इस खेल में पुलिस अधिकारियों ने गिरफ्तारी भी की और अपने कर्मचारियों पर एक्शन भी किया। लेकिन डी.डी.ए., दिल्ली जल बोर्ड व एस.डी.एम. कार्यालय पर अभी तक जूं भी नहीं रेंगी है। पानी माफिया से इन विभागों के अधिकारियों की भी पूरी मिलीभगत थी। दिल्ली में राष्ट्रपति शासन होने का इन्हें फायदा मिल रहा है। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You