बजट मिला, बुजुर्गों में बंटेगी पैंशन

  •  बजट मिला, बुजुर्गों में बंटेगी पैंशन
You Are HereNcr
Monday, March 03, 2014-11:31 PM
नई दिल्ली : दिल्ली सरकार की तरफ से बुजुर्गों को दी जाने वाली सहायता पैंशन लटकी हुई है। इससे हजारों उम्रदराज लोग जो इस राशि पर निर्भर रहते हंै उनको खासी परेशानी  हो रही है।
 
पैंशन जारी करने की मांग को लेकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली की अगुवाई में सोमवार को प्रतिनिधिमंडल मुख्य सचिव संजय कुमार श्रीवास्तव से मिला। सदस्यों ने बताया कि पूर्ववर्ती आम आदमी पार्टी की सरकार की ओर से वृद्धा व विधवा पैंशन पर अघोषित रूप से प्रतिबंध लगाने के कारण पैंशन नहीं जारी हो सकी है।इस दौरान अन्नश्री योजना को बंद नहीं करने की मांग भी की गई। 
 
अरविंदर सिंह व हारुन यूसुफ  ने मुख्य सचिव को राजधानी में चुनी सरकार न होने के कारण आ रही दिक्कतों से अवगत करवाते हुए कहा कि 30 हजार से भी अधिक लोगों की वृद्धावस्था पैंशन रोक दी गई है। इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि पहली बार दिल्ली में विधवाओं की पैंशन को भी रोक दिया गया है। 
 
181 नंबर की शिकायत  : मंडल ने मुख्य सचिव को इस बात से अवगत करवाया कि महिलाओं के लिए शुरू की गई यह योजना पूरी तरह ठप्प पड़ी है और उसमें कायर्रत कर्मचारियों को वेतन तक नहीं मिल रहा है। कांग्रेस नेताओं ने खाद्य सुरक्षा योजना को दिल्ली में लागू करने के लिए धीमी गति पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि राजधानी में जमा 17 लाख फार्मों का समयबद्ध तरीके से निपटारा किया जाए। 
 
उन्होंने इस बात पर भी ङ्क्षचता व्यक्त की कि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ने वृद्धा पैंशन नए लोगों को देने के लिए जो आदेश जारी किए थे, उस पर भी प्रशासन ठीक से काम नहीं कर रहा है । पैंशन के लिए बुजुर्ग दर-दर की ठोकरे खा रहे हैं। 
 
प्रतिनिधिमंडल को मुख्य सचिव ने भरोसा दिलाया : अधिकारी ने कहा प्रशासन रुकी हुई विधवा पैंशन शीघ्र जारी करेगी और इसके लिए एक 66 करोड़ रुपए का प्रावधान कर दिया गया है। उन्होंने कांग्रेस नेताओं को बताया कि विभिन्न मदों में, जिसमें वृद्धा व विधवा पैंशन भी शामिल हंै,  के लिए 541 करोड़ रुपए में से 471 करोड़ रुपए की धनराशि जारी की जा चुकी है।
 
बाकी पैसा भी लाभाॢथयों में वितरित कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस महीने के अंत तक दिल्ली में डेढ़ लाख लोगों को खाद्य सुरक्षा के कार्ड जारी कर दिए जाएंगे। उन्होंने मौके पर मौजूद अधिकारियों को निर्देश दिए कि कांग्रेस नेताओं द्वारा उठाए गए सभी मुद्दों पर विभाग तुरंत कार्रवाई करे। उन्होंने कहा कि वृद्धा पैंशन में त्रुटियों को दूर करने के लिए शीघ्र ही राजधानी के विभिन्न हिस्सों में कैम्प लगाए जाएंगे। मुख्य सचिव ने कांग्रेसी नेताओं की इस बात को भी सैद्धांतिक रूप से मंजूर कर लिया कि वैकल्पिक व्यवस्था होने तक अन्नश्री योजना बंद नहीं की जाएगी। 
 
प्रतिनिधिमंडल में प्रदेश अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली के अलावा सांसद रमेश कुमार, कांग्रेस विधायक दल के नेता हारुन यूसुफ, मुकेश शर्मा, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष चौधरी प्रेम सिंह, डॉ. योगानन्द शास्त्री, पूर्व मंत्री रमाकांत गोस्वामी, प्रो. किरण वालिया, पूर्व विधायक हरी शंकर गुप्ता व परबजीत सिंह जित्ती शामिल थे। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You