जम्मू: विधानसभा में डॉ. फारूक अब्दुल्ला के बयान पर भड़की पी.डी.पी.

  • जम्मू: विधानसभा में डॉ. फारूक अब्दुल्ला के बयान पर भड़की पी.डी.पी.
You Are HereNational
Tuesday, March 04, 2014-11:42 AM

जम्म: जम्मू-कश्मीर विधानसभा में विधायकों के बीच एक बार फिर आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग हुआ और नौबत गाली-गलौच तक पहुंच गई। पी.डी.पी. के विधायकों ने केंद्रीय अक्षय ऊर्जा मंत्री डा. फारूक अब्दुल्ला के कथित तौर पर नई दिल्ली में दिए गए विवादित बयान को लेकर सदन में हंगामा और वाकआऊट किया। बाद में स्पीकर मुबारक गुल ने आपत्तिजनक शब्दों को सदन की कार्रवाई से बाहर करने के आदेश दिए।

आज सुबह जैसे ही सदन की कार्रवाई शुरू हुई तो पी.डी.पी. अध्यक्षा एवं सदन में विपक्ष की नेत्री महबूबा मुफ्ती ने आरोप लगाया कि केंद्रीय मंत्री डा. फारूक अब्दुल्ला ने कश्मीरियों के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग कर लोगों के सम्मान को ठेस पहुंचाई है। इस पर स्पीकर ने कहा कि डा. फारूक अब्दुल्ला सदन में मौजूद नहीं हैं, इसलिए उनकी किसी बात पर यहां चर्चा नहीं की जानी चाहिए। इसके बाद ग्रामीण विकास मंत्री अली मोहम्मद सागर ने कहा कि डा. फारूक का बयान तो केवल एक अखबार में छपा है, लेकिन महबूबा मुफ्ती ने इसकी प्रतिक्रिया में तमाम अखबारों में बयान दिया है और सच्चाई यह है कि डा. फारूक ने कश्मीरियों का अपमान करने वाला बयान दिया ही नहीं।

उनका कहना था कि डा. फारूक अब्दुल्ला कश्मीरी हैं और कश्मीरियों के खिलाफ नहीं बोल सकते। पशुपालन राज्यमंत्री नजीर गुरेजी ने कहा कि डा. फारूक ने तो कश्मीरियों के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग नहीं किया, लेकिन ऐसा कर पी.डी.पी. विधायक जरूर कश्मीरियों का अपमान कर रहे हैं। पी.डी.पी. विधायकों द्वारा वाकआऊट करने के बाद नैशनल कांफ्रेंस विधायक सुरजीत सिंह सलाथिया का कहना था कि पी.डी.पी. के पास कोई एजैंडा नहीं है। उन्होंने वैल में हंगामा कर रहे इंजीनियर रशीद को सदन से बाहर निकालने की अपील की।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You