छत्तीसगढ़: अक्षय तृतीया पर 100 से अधिक विधवाएं बनेंगी दुल्हन

  • छत्तीसगढ़: अक्षय तृतीया पर 100 से अधिक विधवाएं बनेंगी दुल्हन
You Are HereChhattisgarh
Tuesday, March 04, 2014-2:49 PM

रायपुर: भारत में महिला के विधवा होने के बाद समाज उसे एक अलग नजरिए से देखता है। यहां तक कि समाज उसे पूरी तरह बंदिशों से बांध देता है। ऐसी महिलाओं के दर्द को समझकर उसे पुन: जिन्दगी जीने के मायने सिखाने के लिए राजधानी में एक राष्ट्रीय परिचय सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है। यह सम्मेलन नेचर्स केयर एंड सोशल वेलफेयर सोसायटी द्वारा 9 मार्च को चौबे कालोनी स्थित महाराष्ट्र मंडल में आयोजित किया जा रहा है।
 
नेचर्स केयर एंड सोशल वेलफेयर सोसायटी के अध्यक्ष डा. विनिता पांडेय ने बताया कि अभी तक पुनर्विवाह करने के लिए राष्ट्रीय परिचय सम्मेलन में 100 से अधिक आवेदन मिल चुके हैं। उन्होंने बताया कि जो जोड़ी विवाह के लिए तैयार होगी, उनका विवाह अक्षय तृतीया के दिन कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि इसके लिए अभी तक 100 से भी ज्यादा आवेदन मिल चुके हैं। डा. विनीता ने बताया कि परिचय सम्मेलन के लिए महिलाएं 6 मार्च तक अपना पंजीयन करा सकती हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You