सियासत दादा की जायदाद नही तो बंटवारा कैसा: इमरान

  • सियासत दादा की जायदाद नही तो बंटवारा कैसा: इमरान
You Are HereUttar Pradesh
Tuesday, March 04, 2014-4:55 PM

सहारनपुर: सपा नेता एवं पूर्व विधायक इमरान मसूद ने कहा कि अगर मंत्री के पेट्रोल पम्प पर लूट होती है तो उसका खुलासा पुलिस तुरंत
कर देती है और लगातार ताबड़-तोड़ हो रही घटनाओं के बारे में पुलिस प्रशासन बिल्कुल गंभीर नही है इससे जनता में गलत मैसेज जाता है।  , पुलिस अधिकारियों को इस बारे में भी सोचना चाहिए। घंटाघर स्थित एक होटल के सभागार में आयोजित प्रैसवार्ता में इमरान मसूद ने कहा कि कुछ लोग सहारनपुर में राजनैतिकि रोटियां सेंकने के लिए साम्प्रदायिक विवाद कराना चाहते है इसलिए छोटी-छोटी घटनाओं को तूल दिया जा रहा है इसके लिए प्रशासन को अराजक तत्वों के खिलाफ कार्यवाही करनी चाहिए और ऐसी घटनाओं पर रोक लगानी होगी।

मुजफफनगर की घटनाओं से सबक लेते हुए ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए प्रशासन को कडे कदम उठाने चाहिए। घटनाओं को रोकने के लिए वे पार्टी हाईकमान को भी अवगत करायेंगे। अपराधिक घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं और पुलिस अधिकारी उनके खुलासे नही कर पा रहे हैं यह एक दुख का विषय है। सपा पार्टी से टिकट कटने के बारे में उन्होने कहा कि वह पार्टी हाईकमान का निर्णय है वे उसके बारे में कुछ नहीं बोलना चाहेंगे, लेकीन वे उससे आहत जरूर हैं। उनका पार्टी के नेताओं द्वारा लगातार अपमान किया जा रहा है वे उस अपमान को बर्दाश्त कर रहे हैं उनका प्रयास है कि वे पार्टी की लगातार खिदतम करते रहें।

अपने चाचा काजी रशीद मसूद के बारे में उन्होने कहा कि मुझे हाथ पकड़कर घर से निकाला गया है और उनके लिए मै हमेशा दुआ करता हूं की उनको जमानत मिल जाये। पारिवारिक विवाद शाजान मसूद की अति महत्वाकांक्षा के कारण हुआ है। उन्होने कहा कि सियासत दादा की जायदाद नही है जो उसका बंटवारा भाईयों के बीच में किया गया था। सियासत में किसको क्या मिलना है यह जनता तय करती है और समय रहते जनता ही बता देगी। लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी के बदलने के बारे में उन्होने कहा कि वे सपा के सच्चे सिपाही हैं पार्टी बदलने का सवाल ही नही उठता है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You