<

शहर में छाया तेंदुए का आतंक

  • शहर में छाया तेंदुए का आतंक
You Are HereNational
Tuesday, March 04, 2014-6:03 PM

शिमला: आजकल शिमला शहर के मौहल्लों में तेंदुए की दहशत है। बीते दिनों कनलोग, विधानसभा, जाखू, टुटीकंडी, रामनगर, ताराहाल, कैथू, अनाडेल, शोघी क्षेत्र के बाद अब नाभा की सरकारी आवासीय कालौनी में सोमवार रात करीब 12 बजे तेंदुआ घूमता देखा गया। लोगों की नींद खुल गई जब कुत्तों ने जोर-जोर से भौंकना शुरु कर दिया। बड़े हैरत की बात है कि तेंदुआ कुत्तों को छोड़ बंदर के पीछे पड़ गया और उसे दबोच कर गायब हो गया। अपनी खिड़की से यह दृश्य देख रहे लोग सहम गए। कुछ लोगों का कहना है कि शिमला के आस-पास के जंगलों में दिनदिहाड़े तेंदुआ नजर आ रहा है जिससे लोगों को तेंदुए का खौफ सताने लगा है।

बीते वर्ष कनलोग क्षेत्र में ही रात 9 बजे के करीब एक व्यक्ति पर भी तेंदुए ने हमला कर दिया था, किसी तरह वह बच निकले लेकिन उनकी बाजू अभी तक काम नहीं करती। इसी तरह विधानसभा बजट सत्र के दौरान विधानसभा के समीप सुबह करीब 10 बजे के करीब तेंदुआ लोगों को नजर आया। वहीं उद्योग मंत्री मुकेश अग्रिहोत्री ने भी उसे सड़क से गुजरते देखा। वन विभाग को भी शहर के विभिन्न क्षेत्रों से तेंदुओं के घूमने की शिकायतें मिल रही हैं। शहर में तेंदुए की खबर फैलने से लोग अब दिन में भी खौप खाए हुए हैं। बच्चों को स्कूल भेजना भी मुश्किल हो गया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You