कुतुबमीनार से तीन गुना अधिक ऊंचा होगा वृन्दावन का चन्द्रोदय मंदिर

  • कुतुबमीनार से तीन गुना अधिक ऊंचा होगा वृन्दावन का चन्द्रोदय मंदिर
You Are HereUttar Pradesh
Tuesday, March 04, 2014-6:06 PM

मथुरा: इस्कॉन वृन्दावन में दुनिया के सबसे ऊंचा मंदिर का निर्माण करने जा रहा है। यह मंदिर दुनिया की वर्तमान गगनचुंबी इमारतों की सूची में 12वें स्थान पर तथा कुतुबमीनार से करीब तीन गुना ऊंचा होगा। मंदिर का शिलान्यास करने के लिए 16 मार्च का दिन तय किया गया है। इसके लिए राष्ट्रपति एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री को विशेष रूप से आमंत्रित किया गया है। वृन्दावन में स्थित 212 मीटर ऊंचा यह मंदिर चंद्रोदय मंदिर के नाम से जाना जाएगा। इसकी ऊपरी मंजिल से दूरबीन के सहारे 60 किमी दूर स्थित आगरा के ताजमहल एवं ब्रज के आसपास के अनेक धर्मस्थलों का दीदार भी यादगार होगा।

साढ़े चार एकड़ के आधार वाले 700 फुट ऊंचे मंदिर में 70 मंजिलें होंगी। मंदिर के भूतल पर राधाकृष्ण का मंदिर होगा तो उसके बाद वाली मंजिलों में चैतन्य महाप्रभु एवं श्रीप्रभुपाद आदि की प्रतिमाएं स्थापित होंगी। इतनी ऊंचाई पर पहुंचकर श्रद्घालु दूरबीन से मथुरा-वृन्दावन, गोकुल, महावन, बलदेव, बरसाना, नन्दगांव व गोवर्धन आदि के सभी धार्मिक स्थलों का नजारा ले सकेंगे।  प्राचीन एवं आधुनिक स्थापत्य कला के मिश्रण से बनने वाले इस मंदिर को मथुरा-वृन्दावन विकास प्राधिकरण ने मंजूरी प्रदान कर दी है।

हरेकृष्ण मूवमेंट के उपाध्यक्ष एस नरसिम्हादास के अनुसार पहले इस मंदिर को 300 मीटर ऊंचा बनाने की योजना थी। इसके लिए आगरा स्थित एयरपोर्ट अथॉरिटी व रक्षा मंत्रालय से भी अनुमति मिल गई थी। लेकिन लागत दोगुनी होने तथा मंदिर की डिजाइन में परिवर्तन करके मंदिर की ऊंचाई 212 मीटर कर दी गयी। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You