नल एक, गली तीन और लोग हजारों

  • नल एक, गली तीन और लोग हजारों
You Are HereNational
Tuesday, March 04, 2014-11:33 PM

नई दिल्ली  (कुमार गजेन्द्र): दिल्ली  में पानी के लिए मारामारी का दौर शुरू हो गया है। मामला संगम विहार इलाके का है। यहां पिछले तीन दिनों से लोग आपस में झगड़ रहे हैं। पुलिस भी है, लेकिन पुलिस अधिकारियों को समझ नहीं आ रहा कि मामले को किस तरह से शांत कराया जाए। यहां की तीन गलियों में रहने वाले लोग केवल इस बात पर झगड़ा कर रहे हैं कि जलबोर्ड द्वारा लगाने जाने वाले नल को उनकी गली में लगाया जाए। 

संगम विहार के, के-2 ब्लाक पानी की भारी कमी है। यहां के लोगों ने इलाके विधायक समेत जलबोर्ड के आला अधिकारियों से हजारों बार शिकायत की थी, लेकिन हुआ कुछ नहीं। टैंकरों से भी यहां कभी कभार ही पानी आया करता था, पिछले दिनों टैंकर माफिया पर नकेल कसे जाने के बाद, यहां टैंकर आने भी पूरी तरह से बंद हो गए थे। 

के-2 ब्लाक में रहने वाले रंजीत कुमार का कहना है कि इलाके के लोगों की समस्या को देखते हुए जलबोर्ड की ओर से यहां के लिए एक नल पास हुआ था। इस नल के बोरिंग के लिए जलबोर्ड की ओर कई बड़ी मशीनें यहां आई तो लोगों में झगड़ा शुरू हो गया। दरअसल इस ब्लाक की तीन गलियों में रहने वाले लोग आपस में झगड़ा करने लगे। गली नंबर 1,2,3 में रहने वाले लोग इस झगड़े में शामिल हैं। सभी लोग चाहते हैं कि नल उनकी गली में लगाया जाना चाहिए। 

बताया जाता है कि पिछले तीन दिनों से जलबोर्ड के अधिकारी मशीन लेकर इलाके में डेरा डाले हुए हैं, लेकिन लोग हैं कि शांत होने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। हालांकि कोई अनहोनी न हो, इसके लिए पुलिस भी मौके पर मौजूद है, लेकिन जब भी बात बढ़ती है लोग पीसीआर कॉल करने लगते हैं, अब तक सैंकड़ों पीसीआर कॉल की जा चुकी हैं।  

मौके पर हजारों की तादात में लोग जुटे हुए हैं, जिनके आगे पुलिस भी पूरी तरह से लाचार नजर आ रही है। लोगों का कहना है कि आगे गर्मी का मौसम आ रहा है, पानी की किल्लत दूर करने के लिए यह सरकारी नल ही एक मात्र सहारा होगा, इसलिए सभी चाहते हैं कि नल उनकी गली में लगाया जाना चाहिए। बहरहाल इस मामले पर पुलिस या जलबोर्ड का कोई भी अधिकारी कुछ भी बोलने के लिए तैयार नहीं है।  


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You