महिला पंचायत में पुलिस बनी दोस्त

  • महिला पंचायत में पुलिस बनी दोस्त
You Are HereNational
Wednesday, March 05, 2014-10:55 PM

नई दिल्ली : पूर्वी दिल्ली  के लक्ष्मी नगर इलाके में बुधवार को एक गैर सरकारी संस्था की ओर से  महिला पंचायत का आयोजन किया गया। जिसमें नवनियुक्त शकरपुर थानाध्यक्ष हरी सिंह विशेष रुप से पहुंचे उन्होंने महिलाओं के सामने पुलिस की भूमिका को एक दोस्त के रूप में प्रस्तुत किया। यह पहला मौका था कि महिलाओं ने थानाध्यक्ष से कई मुद्दों पर खुलकर बात की। 

महिला पंचायत का आयोजन सरस्वती एजुकेशन सोसायइटी नामक संस्था द्वारा किया गया था। इस अवसर पर मुख्य अतिथि और दिल्ली  महिला आयोग कि सदस्य किरणमती टांक ने कहा कि जब भी किसी महिला को कोई भी परेशानी हो तो वह बेजिझक महिला आयोग के पास आ सकती है क्योंकि महिला आयोग हमेशा महिलाओं के हितो के लिए तत्पर है।

इस अवसर पर कार्यक्रम के आयोजक और सरस्वती एजुकेसन सोसाइटी के अध्यक्ष अमित मिश्रा ने कहा कि उनकी संस्था दिल्ली  में महिला अधिकारो के प्रति लोगों को जागरुक करने व उनकी किसी भी स्थिति में मदद करने के लिए हमेशा तैयार है जिस किसी को भी परेशानी हो वह लोग उनसे संपर्क कर सकते है।

इस अवसर पर अखिल भारतीय पत्रकार मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदीप महाजन  ने कहा कि मीडिया में भी महिलाओं के साथ बहुत उत्पीड़न होता पर दवाब में वह सामने नहीं आ पात इसलिए महिलाओं को चाहिए कि वह बिना किसी दवाब के अपनी बात समाज में रखे। संस्था की प्रतिनिधि के रुप में पहुंची सरिता पांडेय ने महिलाओं को धरेलू हिंसा को न सहने की अपील की। उनका कहना था कि धरेलू हिंसा से ही महिलाओं के साथ उत्डीपनों की घटनाए आत्म हत्या में बदल रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You