आरएसएस उग्र राष्ट्रवाद पर चलने वाला पुरूषवादी संगठन: चिदंबरम

  • आरएसएस उग्र राष्ट्रवाद पर चलने वाला पुरूषवादी संगठन: चिदंबरम
You Are HereNational
Saturday, March 08, 2014-10:11 PM

शिवगंगा/तमिलनाडु: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और केन्द्रीय वित्त मंत्री पी.चिदंबरम ने आज राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर जबरदस्त हमला करते हुए इसे उग्र राष्ट्रवाद पर चलने वाला पुरूषवादी संगठन करार दिया। चिदंबरम ने यहां करेइकुडी में अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर कांग्रेस महिला इकाई के एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि रावण के 10 सिर थे और आरएसएस के 34 चेहरे है जिसमें से एक भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) है।

उन्होंने आरोप लगाया कि आरएसएस का राजनीतिक चेहरा भाजपा है। उसका हिंसात्मक चेहरा बजरंगदल है। बाबरी मस्जिद को ढहाने वाला एक अन्य चेहरा विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) है। कोई भी व्यक्ति यह कल्पना नहीं कर सकता कि भाजपा है और आरएसएस अलग-अलग है। आरएसएस उग्र राष्ट्रवाद पर चलने वाला पुरूषवादी संगठन है। उन्होंने सवाल किया कि क्या इस संगठन में कोई महिला सदस्य है।

चिदंबरम ने कहा कि भाजपा में हालांकि कुछ महिलाएं है लेकिन कोई यह बता सकता है कि आरएसएस में अध्यक्ष सचिव, संयुक्त सचिव, राज्य संयोजक और जिला संयोजक पदों पर कोई महिला काबिज है क्या। उन्होंने दावा किया कि आरएसएस के एक चेहरे भाजपा को यदि लोकसभा चुनावों में केन्द्र की सत्ता में लाने के लिए वोट दिया गया तो संसद और राज्य विधानसभाओं में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षण वाला एक महत्वपूर्ण विधेयक पारित नहीं होगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You