'महिलाओं के खिलाफ भेदभाव को समाप्त करने की आवश्यकता'

  • 'महिलाओं के खिलाफ भेदभाव को समाप्त करने की आवश्यकता'
You Are HereRajasthan
Sunday, March 09, 2014-12:22 PM

जयपुर: राज्यपाल माग्र्रेट आल्वा ने अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि ‘‘यह अवसर न केवल महिलाओं द्वारा अपितु समाज के हर तबके युवा और बुजुर्गों द्वारा उत्सव मनाने का हैं। यह दिवस महिलाओं की आकाक्षांओं, सघंर्ष, उपलब्धियों और योगदान को याद करने का है।‘‘

राज्यपाल ने कहा कि ‘‘आज, महिलाएं आगे बढ़ रही हैं, इसके बावजूद बालिकाओं की संख्या कम होने, बाल विवाह, दहेज, महिलाओं के खिलाफ हिंसा, अनेकों स्तरों पर शोषण व भेदभाव जैसी बुराईयां मौजूद हैं। निर्वाचित संस्थाओं और व्यवसायिक क्षेत्रों में महिलाओं की मौजूदगी प्रभावी है, उन्हें सुना जा रहा है।‘‘

आल्वा ने कहा है कि ‘‘इस वर्ष अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस का विषय ‘‘परिवर्तन हेतु प्रेरणा‘‘ समसामायिक है। सरकारी एवं गैर सरकारी संस्थाओं द्वारा न्यायसंगत समाज की संरचना हेतु कानून और सामाजिक रवैय्ये में बदलाव की आवश्यकता प्रतिपादित करती है। आइए, हम सब कथनी, करनी और विचारों से, जो बदलाव हम देखना चाहते हैं, उसे अपने निजी जीवन में लाए। महिलाओं के सही मायने में स्वतंत्र होने पर ही, उनकी समस्त रचनात्मक ऊर्जा समाज व देश की प्रगति हेतु उपलब्ध हो सकेगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You