पत्नी और बेटी को भत्ता दे सरकारी कर्मी: कोर्ट

  • पत्नी और बेटी को भत्ता दे सरकारी कर्मी: कोर्ट
You Are HereNational
Monday, March 10, 2014-10:56 PM
नई दिल्ली : दिल्ली की एक अदालत ने एक सरकारी कर्मी को निर्देश दिया है कि वह अपनी पत्नी व बेटी को 18 हजार रुपए प्रतिमाह गुजारे भत्ते के तौर पर दें। साथ ही कहा है कि वह उन दोनों को प्रताडि़त न करें।
 
अदालत ने लक्ष्मी नगर निवासी को यह भी कहा है कि वह उस संपत्ति को भी न बेचे जो उसके व उसकी पत्नी के नाम है। महानगर दंडाधिकारी वंदना जैन ने एम.सी.डी में तैनात आर्टिस्ट को कहा है कि वह अपनी पत्नी व 23 वर्षीय बेटी को नौ-नौ हजार रुपए गुजारा भत्ता दे।
 
अदालत ने इस व्यक्ति की उस दलील को खारिज कर दिया,जिसमें कहा गया था कि उसकी बेटी बालिग हो चुकी है। ऐसे में उसको गुजारा भत्ता मांगने का कोई हक नहीं है। अदालत ने कहा कि वह बीमार है और उस उसके खर्च के लिए पैसे चाहिए। अदालत ने कहा कि तमाम तथ्यों से यह साबित हो गया है कि वह अपनी पत्नी से मारपीट करता था।
 
ऐसे में अब उसे ऐसा करने से रोका जाता है। महिला ने अपनी अर्जी में कहा था कि वर्ष 1997 से उसके पति ने उसकी,उसकी बेटी व बेटे की उपेक्षा करना शुरू कर दी।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You