UP में मंत्रियों की बर्खागस्तगी पर उठे सवाल

  • UP में मंत्रियों की बर्खागस्तगी पर उठे सवाल
You Are HereNational
Tuesday, March 11, 2014-2:47 PM

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से राज्य मंत्रिमंडल से दो मंत्रियों की बर्खास्तगी की वजह पूछी है। भाजपा ने कहा है कि किसे मंत्रिमंडल में रखना है, किसे नहीं यह मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार है, किन्तु जिन परिस्थितियों में मंत्रियों की बर्खास्तगी हुई है, उससे पूरी समाजवादी पार्टी (सपा) कठघरे में खड़ी दिख रही है।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि जब सरकार के मंत्री बर्खास्त होते हैं तो स्वाभाविक रूप से यह सवाल खड़ा होता है कि मंत्री परिषद के सदस्य के रूप में इनके ऐसे कौन से आचरण थे, जिसकी वजह से इन्हें मंत्रिमंडल से बर्खास्त किए जाने की नौबत आई, इन पर लगे आरोपों को सार्वजनिक किया जाए। उन्होंने कहा कि बलात्कार के आरोपी मंत्री मनोज पारस पर लगातार मीडिया सवाल खड़े कर रहा है, लेकिन अखिलेश सरकार सदैव मनोज पारस के बचाव में खड़ी होती रही।

यहां तक कि मंत्री पर से मुकदमा वापस लेने तक की कोशिश हुई। अब अचानक ऐसी कौन सी परिस्थितियां हुई कि पारस को मंत्रीमंडल से बर्खास्त करने जैसी स्थिति उत्पन्न हुई। पाठक ने कहा कि अखिलेश सरकार में मंत्री रहे आनन्द सिंह के बेटे पूर्व सांसद कीर्तिवर्धन सिंह ने भाजपा की नीतियों और नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में आस्था व्यक्त करते हुए भाजपा में शामिल होने का फैसला किया। उन्होंने कहा कि दो मार्च को लखनऊ  में हुई राजनाथ सिंह और मोदी की रैली में कीर्तिवर्धन के समर्थक शामिल हुए जबकि, औपचारिक रूप से उन्होंने भी छह मार्च को भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली, जो कुछ हुआ वह सार्वजनिक है।

ऐसे में जरूरी है कि सरकार यह स्पष्ट करे कि आनंद सिंह को अचानक बर्खास्त किए जाने का कारण क्या है। उन्होंने दावा किया सपा प्रमुख सहित पूरी पार्टी चाहे जितने प्रयत्न कर ले जनता उनके चाल, चरित्र और चेहरे को जान चुकी है। जनता की नजर में बेनकाब हुए सपा नेताओं को लोकसभा चुनाव में बड़ी हार का सामना करना पड़ेगा। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ने रविवार को ही दो मंत्रियों पारस और आनंद सिंह को मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया था। ऐसा माना जा रहा है कि आनंद सिंह के पुत्र कीर्तिबर्धन के भाजपा में शामिल होने की वजह से ही उनके खिलाफ यह कार्रवाई की गई।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You