धर्म की डोर को मजबूती से पकडें मुसलमान: मौलाना अराद मदनी

  • धर्म की डोर को मजबूती से पकडें मुसलमान: मौलाना अराद मदनी
You Are HereUttar Pradesh
Tuesday, March 11, 2014-7:02 PM

सहारनपुर: जमीयत अध्यक्ष एवं दारूल उलूम देवबंद के वरिष्ठ मौलाना अराद मदनी ने देश और दुनिया के मुसलमानों से अपील की है कि वे धर्म की डोर को मजबूती से पकड़ें और आपसी एकता और भाइचारे पर सबसे ज्यादा ध्यान दें। जमीयत उलमाएं हिन्द के राष्ट्रीय सम्मेलन में आज यहां बोलते हुए उन्होंने कहा कि हजरत पैगम्बर साहब के साथियों का जीवन समाज सुधार में बीता। मदनी ने कहा कि टेलीविजन समाज को बिगाड़ रहा है। उन्होंने कहा कि इस्लाम धर्म में सच्चा और पक्का मुसलमान बनने की संपूर्ण शिक्षा मौजूद है।

जरूरत है मुसलमान उसको हासिल करें और उसको अपने आचरण में लाएं। मदनी ने कहा कि मुस्लिम बेशक इंजीनियर, चिकित्सक, प्रशासक,वैज्ञानिक और व्यवसायी बनें लेकिन दीन को किसी भी सूरत में न छोडें़। सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के बेहद करीब चल रहे और लोकसभा चुनाव के दौरान आयोजित होने वाले अपने जलसे पर उन्होंने यह कहते हुए सफाई देना जरूरी समझा कि इस आयोजन का मकसद मौलाना ने साफ किया कि इसे सियासी नजरिए से जोड़कर न देखा जाए। सम्मेलन में देश भर से आए जमीयत के हजारों कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।

संचालन जमीयत के महासचिव एवं दारूल उलूम की मजलिसे शूरा के सदस्य मौलाना अलीम फारू की ने किया। दारूल उलूम के मौलाना कमरू द्दीन एवं मौलाना युसूफ ने भी इस विषय पर अपनी बात कही। जलसे के बीच में ही भारी बारिश और ओलावृष्टि शुरू हो गई जिससे तय वक्त से एक घंटा पहले जलसे को खत्म करना पड़ा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You