नाबालिग प्रेमिका से शारीरिक संबंध, अदालत ने माना दोषी

  • नाबालिग प्रेमिका से शारीरिक संबंध, अदालत  ने माना दोषी
You Are HereNational
Tuesday, March 11, 2014-9:38 PM

नई दिल्ली: 14 साल की प्रेमिका से शारीरिक संबंध बनाने वाले आरोपी को दिल्ली की एक अदालत ने दोषी करार दिया है। अदालत ने कहा कि आरोपी व पीड़िता के बीच सहमति से संबंध बनाए गए थे,परंतु पीड़िता नाबालिग है।

ऐसे में उसकी सहमति कोई मायने नहीं रखती है। हालांकि अदालत ने आरोपी सुरेंद्र पासवान को अपहरण के मामले में बरी कर दिया है। अदालत ने कहा कि पीड़िता आरोपी के साथ अपनी मर्जी से गई थी क्योंकि वह उससे प्यार करती थी।

 
इस मामले में घटना 18 दिसम्बर 2000 की है। पीड़िता आरोपी के साथ प्यार करती थी और अपने घर से भाग गई थी। जिसके बाद वह बिहार चले गए थे।अदालत ने कहा कि पीड़िता आधी रात को अपने माता-पिता को बिना बताए घर से चली गई थी।
 
इसलिए आरोपी पर अपहरण का मामला नहीं बनता है। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश विरेंद्र भट्ट ने कहा कि दोनों के बीच संबंध भी सहमति से बने थे परंतु पीड़िता घटना के समय नाबालिग थी। ऐसे में आरोपी को दुष्कर्म के मामले में दोषी करार दिया जाता है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You