केजरीवाल का नहीं रहा 'विश्वास'?

  • केजरीवाल का नहीं रहा 'विश्वास'?
You Are HereNational
Wednesday, March 12, 2014-11:40 AM

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी के नेता और अमेठी से राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ रहे कुमार विश्वास ने नाराजगी की खबर से इनकार किया है। विश्वास ने अपने ट्वीट पर सफाई देते हुए कहा कि गंदे नाले का मतलब तो ये भी हो सकता है कि जो पार्टी भोले-भोले की बात करती है और येदुरप्पा जैसे लोगों को शामिल करती है। लेकिन मीडिया का एक हिस्सा जो पेड है, गुजरात के बारे में कुछ नहीं बोलता। लेकिन मीडिया की रोटी शायद चलती नहीं है। कभी उनकी आलोचना करते हैं और कभी उन पर खबर बनाती है।

टिकट बंटवारे पर नाराजगी की खबरों पर कुमार विश्वास ने कहा कि मेरे बयान का गलत मतलब निकाला गया है मैंने पार्टी को जानकारी दे दी है। आरोप साबित हुए तो टिकट वापस ले लेंगे। पारदर्शिता ही हमारी पार्टी की खूबसूरती है।

वहीं विश्वास ने इसे लेकर मीडिया पर ही निशाना साधा। विश्वास ने पूछा, कि क्या मेरी कविताओं का आशय भी पत्रकार निकालेंगे। शायद उनके पास खबर नहीं है इसलिए मेरी कविताओं का भी कुछ भी आशय निकालकर उसे ब्रेकिंग न्यूज की तरह चला रहे हैं। उनको शुभकामनाएं।

कुमार ने कहा कि भारतीय राजनीति में इतनी पारदर्शिता कभी किसी पार्टी में नहीं रही। देश को इस तरह की पारदर्शी राजनीति की आदत डालनी चाहिए। मेरी कविता का कोई औऱ मतलब तो आपने निकाला नहीं। मैं नदी प्रदूषण की बात कर रहा था। हमारी पार्टी मीडिया को बडे-बड़े ऐड नहीं दे पाती है तो इसलिए हमारे बारे में इस तरह की खबरें आती हैं। हमारी पार्टी में लोकतंत्र है और वो स्पष्ट है। मैंने कहा कि मुझे अमेठी से लडऩा है तो इंटरव्यू हुआ और मेरा चुनाव हुआ। शाजिया ने कहा कि मुझे नहीं लडऩा तो उन्हें नहीं लड़ाया गया।

गौरतलब है कि नाराज कुमार विश्वास ने ट्विट किया था कि 'चढ़ती नदी में नाले गिरेंगे तो आस्थावान स्नान से भी डरेगा, आचमन तो भूल ही जाओ।' इसी ट्विट पर कुमार विश्वास ने अपनी सफाई दी है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You