.... कहीं ‘मिशन मोदी’ को न लग जाए धक्का

  • .... कहीं ‘मिशन मोदी’ को न लग जाए धक्का
You Are HerePolitics
Wednesday, March 12, 2014-6:02 PM

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों की घोषणा अभी नहीं की है लेकिन पार्टी में तेजी से शामिल हो रहे दूसरे दलों के लोगों को लेकर (कैडर) में रोष दिखाई पड़ रहा है।

उत्तर प्रदेश में लोकसभा की कुल 80 सीटें हैं। यहां के परिणाम केन्द्र में सरकार बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। कहावत है कि दिल्ली का रास्ता लखनऊ से होकर जाता है। ऐसे में यदि भाजपा ने बाहर से आए नेताओं को टिकट बंटवारे में अधिक तरजीह दी तो ‘मिशन मोदी’ को धक्का लग सकता है क्योंकि इससे पार्टी के जमीनी कार्यकर्ताओं में रोष स्वाभाविक है।

गोण्डा संसदीय क्षेत्र से पूर्व सांसद कीर्तिवर्धन सिंह के भाजपा में शामिल होने पर वहां के एक जमीनी कार्यकर्ता ने कटाक्ष किया कि पांच साल इन्हीं की गाली खाई और यदि पार्टी इन्हें टिकट दे देगी तो इनका जिन्दाबाद कैसे बोला जाएगा।

सिंह के साथ ही कैसरगंज से सपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने सपा का टिकट वापस कर दिया और भाजपा से टिकट की लालसा लगाए हुए हैं। वह गत दो मार्च को यहां आयोजित प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की रैली में दल-बल के साथ आए थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You