छत्तीसगढ़ नक्सल हमला : हेडफोन पर संगीत सुनना पड़ा भारी

  • छत्तीसगढ़ नक्सल हमला : हेडफोन पर संगीत सुनना पड़ा भारी
You Are HereNational
Wednesday, March 12, 2014-7:10 PM

नई दिल्ली: कानों में हेडफोन लगाकर तेज आवाज में संगीत सुनना स्थानीय गांव वाले के लिए भारी पड़ा। शोर वाले संगीत के कारण यह गांव वाला कल छत्तीसगढ में माओवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ में स्वचालित हथियारों से छूट रही गोलियों की आवाज नहीं सुन सका और उसे जान गंवानी पड़ी।

नक्सलियों ने जब सीआरपीएफ और छत्तीसगढ़ पुलिस के संयुक्त दल पर सुकमा जिले में घात लगाकर हमला किया तो विक्रम निषाद घटनास्थल की ओर मोटरसाइकिल पर सवार होकर जा रहा था। उस समय उसके कानों में हेडफोन लगा था। वह चूंकि अपने मोबाइल फोन से संगीत सुन रहा था, तोंगपाल के जंगलों में चल रही गोलियों की तड़तड़ाहट नहीं सुन सका।

कई लोग हालांकि चिल्लाए और विक्रम को रूकने का इशारा किया और कहा कि वह आगे नहीं जाए लेकिन कान में संगीत बजने के कारण वह किसी की बात सुन नहीं सका और आगे बढ़ता चला गया। किस्मत विक्रम के साथ नहीं थी और वह गोलीबारी के बीच आ गया और गोली लगने के कारण उसकी मौत हो गई।

नक्सलियों के हमले में मारे गए लोगों में विक्रम एकमात्र आम नागरिक था। उसके अलावा नक्सलियों ने सीआरपीएफ के 11 कर्मियों और छत्तीसगढ़ पुलिस के 4 जवानों की हत्या कर दी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You