<

मॉडर्न स्कूल में बच्चों की मारपीट और गालियों का वीडियो हुआ लीक

  • मॉडर्न स्कूल में बच्चों की मारपीट और गालियों का वीडियो हुआ लीक
You Are HereNational
Thursday, March 13, 2014-7:13 PM

नई दिल्ली: दक्षिणी दिल्ली के एक स्कूल में कक्षा छह के एक छात्र को सहपाठियों द्वारा परेशान किए जाने वाले वीडियो ने अभिभावकों और शिक्षकों की चिंता बढ़ा दी है।

मोबाइल के मैसेज एप्पलीकेशन व्हाट्सऐप के जरिए बुधवार को आग की तरह फैले इस वीडियो में कुछ बच्चों की टोली एक अकेला बच्चे की लात-घूसों से पिटाई और गाली-गलौज करता दिखाई दे रहा है। यह वीडियो कथित रूप से एक छात्र ने अपने मोबाइल फोन से बनाया है।

सालवान पब्लिक स्कूल की प्रधानाध्यापिका किरण मेहता ने गुरुवार को कहा, ‘‘स्कूलों में मोबाइल फोन लाने पर कड़ा प्रतिबंध होना चाहिए। लेकिन जो बच्चे स्कूल के बाद निजी ट्यूशन के लिए जाते हैं, उनके अभिभावक उन्हें मोबाइल फोन देते हैं, क्योंकि उन्हें अपने बच्चों की चिंता लगी रहती है। बहरहाल, मोबाइल के उपयोग में कटौती जरूरी है।’’

मेहता का कहना है कि अभिभावकों को इस बात के प्रति सजग होना चाहिए कि उनके बच्चों की दोस्ती किन लोगों से है और उनकी बातों और भाषाशैली का भी ध्यान रखना चाहिए।

मेहता ने आईएएनएस को बताया, ‘‘हम शिक्षक होने के नाते स्कूल में बच्चों के व्यवहार आदि का ध्यान रखते हैं। अभिभावकों और शिक्षकों के बीच बातचीत और सामंजस्य बनाए रखने की जरूरत है।’’

उन्होंने कहा कि वीडियो वाली घटना गंभीर और चिंताजनक है और इसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। स्कूल की प्रधानाध्यापिका ने कहा, ‘‘हमने दोषी छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की है।’’

घटना से विस्मित दो बच्चों की मां पालोमा गांगुली ने आईएएनएस से कहा, ‘‘स्कूलों में इस बात का ध्यान रखा जाना चाहिए कि बच्चे गलत भाषाशैली का उपयोग न करें। यदि बच्चे कहीं से भी इस तरह की बातें सुनते हैं तो वह उनके दिमाग में रह जाती हैं। घर में अभिभावकों और स्कूलों में शिक्षकों की यह जिम्मेदारी है कि बच्चों की भाषा और क्रियाकलाप पर नजर रखें।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You