डीटीसी बसों में कंडक्टर पर भी 75 रुपए का जुर्माना लगाने का करेंगे विरोध

  • डीटीसी बसों में कंडक्टर पर भी 75 रुपए का जुर्माना लगाने का करेंगे विरोध
You Are HereNcr
Thursday, March 13, 2014-8:30 PM

नई दिल्ली : दिल्ली परिवहन निगम के कंडक्टरों ने वीरवार को विभाग के मुख्यालय पर जोरदार विरोध प्रदर्शन किया। डीटीसी यूनियन के नेतृत्व में किए गए इस प्रदर्शन डीटीसी के सैकड़ों कंडक्टर शामिल हुए। जिसकी वजह से राजधानी की सड़कों पर शाम के वक्त करीब 500 बसें कम उतरी , नतीजा यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। प्रदर्शन के बाद यूनियन ने डीटीसी के सीएमडी को ज्ञापन सौंपा जिसमे कंडक्टरों को बिना गलती की सजा से मुक्ति दिलाने की मांग की गई।

प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे डीटीसी यूनियन का कहना है कि डीटीसी प्रबंधन ने कंडक्टरों पर जिस तरह की कार्रवाई करनी शुरू की है, उससे कंडक्टरों का कैरियर खराब होने के साथ उनके घर का चूल्हा जलना मुश्किल हो जाएगा। क्योंकि आज भी डीटीसी की बसों में प्रतिदिन 35-40 हजार यात्री बिना टिकट चलते हैं और उनका चालान किए जाने के साथ कंडक्टरों का चालान किया जाता है तो उनकी पूरी तनख्वाह चालान में ही चली जाएगी।

दरअसल, आम आदमी पार्टी की सरकार के वक्त डीटीसी ने एक आदेश जारी किया था। जिसके तहत जिस बस में बेटिकट यात्री पकड़ा जाता है, उस बस के कंडक्टर पर भी प्रति यात्री 75 रुपए का चालान किया जाएगा। साथ उसके खिलाफ अनुशासनहीनता की कार्रवाई भी की जाएगी। यूनियन के प्रवक्ता कैलाश चंद कहते हैं कि इस मामले में कंडक्डर का इंक्रीमेंट रोके जाने के साथ उसके काम का प्रोफाइल खराब होता है। अस्थाई कंडक्टरों की तो नौकरी तक जा सकती है। जबकि बेटिकट यात्रियों के पीछे कंडक्टर की कोई लापरवाही नहीं होती है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You