दिल्ली विवि की वैश्विक रैंकिंग सुधरी

  • दिल्ली विवि की वैश्विक रैंकिंग सुधरी
You Are HereNcr
Saturday, March 15, 2014-11:35 PM

नई दिल्ली,(मनीष राणा): दिल्ली विश्वविद्यालय में चार वर्षीय ग्रेजुएशन कोर्स (एफवाईयूपी) लागू किए जाने के बाद से ही लगातार विरोध हो रहा है। पूरे साल एफवाईयूपी के विरोध में शिक्षक और छात्र संगठन धरना प्रदर्शन करते रहे। मगर इन सबके वाबजूद दुनिया की टॉप की सौ ग्लोबल यूनिवर्सिटी में डीयू की स्थिति में दो अंक का सुधार हुआ है।

पिछले साल 99वें स्थान के मुकाबले इस बार 97वें स्थान पर रहा विश्वविद्यालय। ग्लोबल यूनिवर्सिटी 2014  रैंकिंग में आईआईटी मुम्बई की स्थिति पहले के मुकाबले कुछ कमजोर हुई है।


दुनिया की टॉप शिक्षण संस्थाओं में टॉप 100 ग्लोबल यूनिवर्सिटी का चुनाव करने के लिए 1,300 संस्थानों और दुनिया भर में 8,000 से
अधिक नियोक्ताओं से संपर्क करके प्रशस्त किए गए शोध करने के बाद, युवा इंक एक स्नातक कार्यक्रम को आगे बढ़ाने के लिए दुनिया में शीर्ष 100 विश्वविद्यालयों में स्थान दिया गया है। ग्लोबल यूनिवसिर्टी में पहले स्थान पर यूएसए की हावर्ड यूनिवर्सिटी है,जो पिछले साल भी पहले स्थान पर ही थी। गौर करने वाली बात यह है कि दूसरे और तीसरे स्थान पर भी यूएसए की ही यूनिवर्सिटी है । शुरुआती टॉप टैन में केवल चौथे नम्बर पर यूके की ऑक्सफोर्ड यूनिवसिर्टी को छोड़कर बाकी सभी यूएसए की है।


भारत की ओर से इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टैक्नॉलोजी  मुम्बई को इसमें 24वां स्थान प्राप्त हुआ है। जबकि 2013 में इसकी रैंकिंग 19 थी और 2012 में 31वें नम्बर पर थी। दूसरी तरफ डीयू को भी इस लिस्ट में स्थान मिला है। इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टैक् नॉलोजी दिल्ली इसबार 27वें नम्बर पर है, जबकि पिछले वर्ष भी 27वें नम्बर पर ही था। इस तरह आईआईटी दिल्ली की रैंकिंग में कोई बदलाव नहीं हुआ है। वहीं आईआईटी कानुपर अपनी पिछली रैंक 79 से फीसल कर 86वें स्थान पर पहुंच गया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You