5 साल में महज 50 बार लोकसभा में गूंजा ‘पंजाब’

  • 5 साल में महज 50 बार लोकसभा में गूंजा ‘पंजाब’
You Are HereNational
Sunday, March 16, 2014-3:39 PM

चंडीगढ़: पंजाब की जनता ने जिन सांसदों को 15वीं लोकसभा में अपना प्रतिनिधि बनाकर भेजा था, उन्होंने अपने 5 साल के कार्यकाल में महज 50 बार ही ‘पंजाब’ को आधार बनाकर सवाल पूछे। कई जनप्रतिनिधि तो ऐसे भी हैं, जिन्होंने एक बार भी अपनी जुबां से ‘पंजाब’ का जिक्र तक नहीं किया। इस तथ्य का खुलासा खुद लोकसभा का रिकॉर्ड करता है। पंजाब पर आधारित सवाल पूछने वालों में सबसे आगे श्री आनंदपुर साहिब के सांसद रवनीत सिंह बिट्टू रहे।

15वीं लोकसभा के दौरान उन्होंने करीब 14 बार पंजाब पर आधारित सवालों के साथ केंद्र सरकार से जवाब-तलब किया है, जबकि फतेहगढ़ साहिब के सांसद सुखदेव सिंह लिबड़ा व मंत्री बनने से पहले लुधियाना के सांसद मनीष तिवारी ने सबसे कम महज 2-2 बार ही पंजाब पर आधारित सवाल उठाए हैं।

पंजाब के इन सांसदों ने नहीं पूछे सूबे पर कोई सवाल
संसद में कई सांसदों ने सवाल पूछे लेकिन इनमें पंजाब का जिक्र नहीं है। संगरूर के सांसद विजय इंद्र सिंगला ने 31 सवाल पूछे, लेकिन इसमें पंजाब पर आधारित सवाल नहीं था। अमृतसर से सांसद नवजोत सिंह सिद्धू ने 99, जबकि जालंधर के सांसद मोहिंद्र सिंह के.पी. ने 4 सवाल पूछे हैं, लेकिन इनमें भी पंजाब का जिक्र नहीं है। वहीं, होशियारपुर की सांसद संतोष चौधरी ने मंत्री बनने से पहले तक संसद में कोई सवाल नहीं पूछा।

दूसरे राज्यों के सांसदों ने पूछा पंजाब पर सवाल
यह अजीब संयोग है कि जहां पंजाब के कई सांसदों ने लोकसभा में पूछे जाने वाले अपने सवालों में अपने कार्यक्षेत्र पंजाब का जिक्र तक नहीं किया, वहीं अन्य राज्यों के कई सांसदों ने पंजाब पर जुड़े कई अहम सवालों के जवाब पिछली लोकसभा में केंद्र सरकार से मांगे। लोकसभा में कई बार ऐसा मौका आया, जब सवाल में पंजाब का जिक्र था लेकिन यह सवाल पंजाब के सांसदों ने नहीं उठाए।

हरसिमरत कौर बादल ने पूछे महज 7 सवाल
बेशक हरसिमरत कौर बादल ने संसद में 273 सवाल उठाए हैं लेकिन इनमें पंजाब पर आधारित सवालों की संख्या महज 7 है। इसी तरह, खडूर साहिब के सांसद रतन सिंह अजनाला ने पंजाब को लेकर 6 सवाल, गुरदासपुर के सांसद प्रताप सिंह बाजवा ने 5 सवाल, फिरोजपुर के सांसद शेर सिंह घुबाया व परमजीत कौर गुलशन ने तीन-तीन बार अपने सवाल में पंजाब का जिक्र किया है।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You