सुव्यवस्थित तरीके से शुरू होगी चारधाम यात्रा: रावत

  • सुव्यवस्थित तरीके से शुरू होगी चारधाम यात्रा: रावत
You Are HereUttrakhand
Sunday, March 16, 2014-5:06 PM

देहरादून: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने आज कहा कि केदारनाथ सहित सभी चारधाम यात्रा मार्गों की मरम्मत का काम युद्धस्तर पर चल रहा है और राज्य सरकार आगामी पांच मई से सुव्यवस्थित तरीके से यात्रा शुरू कर देगी । 

यहां संवाददाताओं से अनौपचारिक बातचीत करते हुए रावत ने कहा, ‘अगर हमें काम करने के लिए निर्बाध रूप से एक महीने का भी वक्त मिल जाए तो हम यात्रा मार्गों को पूर्ण रूप से दुरूस्त कर देंगे और अभी तो यात्रा शुरू होने में काफी समय है । सभी यात्रा मार्गो पर युद्धस्तर पर काम चल रहा है और समय पर सुव्यवस्थित तरीके से यात्रा शुरू हो जाएगी।’

मुख्यमंत्री ने यात्रा समय पर शुरू हो पाने के संबंध में चल रही शंकाओं को खारिज करते हुए कहा कि पिछले वर्ष आयी प्राकृतिक आपदा में सर्वाधित प्रभावित हुए केदारनाथ धाम के मार्ग पर भी लगभग एक चौथाई काम पूरा किया जा चुका है और राज्य लोकनिर्माण विभाग और सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) पूरी गति से इसके निर्माण में लगे हैं ।

गौरतलब है कि दो मई को गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट खुलेंगे जबकि चार मई को केदारनाथ और पांच मई को बदरीनाथ के कपाट खुलेंगे। उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं की सुरक्षा की दृष्टि से सभी इंतजामों को और पुख्ता किया जा रहा है और केदारनाथ के नीचे सोनप्रयाग से गौरीकुंड के बीच में पडऩे वाले पुलों के परीक्षण जैसी छोटी से छोटी बातों को भी यात्रा से पहले सुनिश्चित किया जा रहा है। 

रावत ने बताया कि रामबाड़ा और भीमबली से केदारनाथ तक सभी कामों पर नजर रखने के लिये नेहरू इंस्टीटयूट आफ माउंटेनियरिंग (निम) के निदेशक और पुलिस उपमहानिरीक्षक जी एस मर्तोलिया को तैनात किया गया है । उन्होंने कहा कि इसी टीम को भीमबली सहित दो अन्य जगहों पर बेस कैंप तैयार करने की भी जिम्मेदारी दी गयी है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि जहां केदारनाथ तक का रास्ता सरकार तैयार करेगी, वहीं मंदिर तक रास्ते के दोंनो तरफ दुकानें तैयार करने और मंदिर की व्यवस्था तैयार करने की जिम्मेदारी बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर कमेटी को सौंपी गर्इ है। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You