फर्जी दस्तावेज से 18 छात्रों का एडमिशन

  • फर्जी दस्तावेज से 18 छात्रों का एडमिशन
You Are HereNcr
Tuesday, March 18, 2014-10:50 PM

नई दिल्ली : दिल्ली विश्वविद्यालय के साऊथ कैंपस स्थित शहीद भगत सिंह कॉलेज में फर्जी दस्तावेज के जरिए छात्रों का एडमिशन देने का सनसनी खेज मामला सामने आया है। कॉलेज प्रशासन के शिकायत के बाद मालवीय नगर थाना में अज्ञात  छात्रों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस का कहना है कि अभी इस मामले में किसी छात्र को नामजद नहीं किया गया है लेकिन जांच में 18 छात्रों के फर्जीवाड़ा में शामिल होने का पता लग गया है। छात्रा के खिलाफ  अपराधिक साजिश रचने व फर्जीवाड़ा की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। कॉलेज के चीफ  को.ऑर्डिनेटर एडमिशन अरुण अत्री की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज किया है।

दिल्ली विश्वविद्यालय में सामने आने के बाद कॉलेज प्रशासन व छात्र-छात्राओं के होश उड़े हुए हैं। इससे पूर्व पिछले वर्ष दिल्ली विश्वविद्यालय के नॉर्थ कैंपस के रामजस कॉलेज और किरोड़ीमल कॉलेज तथा साऊथ कैंपस के शहीद भगत सिंह कॉलेज इवङ्क्षनग में फर्जी दस्तावेजों के जरिए दाखिला लेने का मामला सामने आया था। उस दौरान रामजस कॉलेज ने नए पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने वाले छात्रों के प्रमाणपत्रों की जांच के लिए फोरैसिंक टीमें बुलाई थी।

पुलिस अधिकारी के मुताबिक 4 वर्षीय स्नातक पाठ्यक्रम,नया पाठ्यक्रम में दाखिला होने के बाद जब कॉलेज प्रशासन ने आंतरिक रूप से जांच करवाई तब पता चला कि कई छात्रों ने फर्जी दस्तावेजों के जरिए दाखिला लिया है। इस पर अरुण अत्री ने दक्षिण जिला के एडिशनल डी.सी.पी. प्रमोद कुशवाहा को लिखित शिकायत की थी। शिकायत पर मालवीय नगर थाना पुलिस ने 14 मार्च को मामला दर्ज कर लिया था।

 शिकायत में असिस्टैंट प्रोफेसर अरुण अत्री ने कहा है कि कॉलेज की आंतरिक जांच से पता चला है कि एकेडमिक सैशन 2013-14 में दाखिला दिलाने वाले गिरोह फर्जी जाति प्रमाण पत्र के आधार पर कॉलेज के विभिन्न पाठ्यक्रमों में दाखिला दिलाया है। दाखिला पाने वाले छात्रों में फोटो तो उन्हीं के हैं, किंतु कई कागजात दूसरे छात्र के हैं। उक्त दाखिला रैकेट में कॉलेज व गैर अध्यापकीय कर्मचारी लिपिक आदि के शामिल होने का शक है।

बताया जा रहा है कि कॉलेज की स्टाफ  काऊंसिल की बैठक के बाद कॉलेज प्रशासन ने 18 छात्रों का नामांकन रद्द कर दिया है। कॉलेज सूत्रों की मानें तो इस मामले को प्रकाश में आने के बाद डी.यू. के कुछ और कॉलेजों में भी फर्जी दाखिला का मामला सामने आ सकता है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You