भारत-चीन युद्ध रिपोर्ट ‘अत्यंत संवेदनशील’: सरकार

  • भारत-चीन युद्ध रिपोर्ट ‘अत्यंत संवेदनशील’: सरकार
You Are HereNcr
Wednesday, March 19, 2014-3:29 PM

नई दिल्ली: भारत-चीन के बीच 1962 में हुए युद्ध से संबंधित दस्तावेज को अत्यंत संवेदनशील होने की दलील देते हुए सरकार ने मंगलवार को इंटरनेट पर प्रकाशित वर्गीकृत रिपोर्ट के एक अंश पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। वर्गीकृत हेंडर्सन-ब्रुक्स रिपोर्ट के अंश को आस्टे्रलिया के पत्रकार नेविल्ले मैक्सवेल ने इंटरनेट पर जारी किया है।

इस रिपोर्ट में 1962 की लड़ाई में भारत की शर्मनाक पराजय के कारणों का विश्लेषण किया गया है। इसमें हार के लिए कथित रूप से तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की सरकार और उस समय के सैन्य नेतृत्व को जिम्मेवार ठहराया गया है।

सरकार ने कहा है, ‘‘रिपोर्ट के अत्यंत संवेदनशील प्रकृति का होने और इसके मौजूदा सामरिक महत्व है इसलिए भारत सरकार ने इसे ‘अत्यंत गोपनीय’ के रूप में वर्गीकृत कर रखा है। इसे देखते हुए नेविल्ले मैक्सविल के द्वारा वेब पर अपलोड तथ्यों पर टिप्पणी करना उचित नहीं है।’’

यह रिपोर्ट ले. जनरल हेंडर्सन ब्रुक्स और ब्रिगेडियर पी. एस. भगत ने तैयार की थी। इसमें कथित रूप से पराजय के लिए सैन्य और राजनीतिक भूलों का ब्योरा दिया गया है। मैक्सवेल को इस रिपोर्ट की प्रति कहीं से हाथ लगी और उन्होंने ‘भारत का चीन के साथ युद्ध’ शीर्षक से एक किताब लिखी। उन्होंने रिपोर्ट के कुछ अंश वेब पर अपलोड कर दिए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You