गुजरात के नाम एक और रिकार्ड...!

  • गुजरात के नाम एक और रिकार्ड...!
You Are HereGujrat
Wednesday, March 19, 2014-6:50 PM

नई दिल्ली: गुजरात के विकास मॉडल को लेकर जारी वाद-विवाद के बीच एक रिपोर्ट में भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की सराहना की गयी है। इसमें कहा गया है कि राज्यों में आर्थिक आजादी के मामले में गुजरात सबसे आगे रहा है। हालांकि, 2005 में इस मामले में वह पाचवें स्थान पर था। ‘इकोनोमिक फ्रीडम ऑफ द स्टेट्स ऑफ इंडिया’ (ईएफएसआई) 2013 विषय पर रिपोर्ट में कहा गया है, ‘‘गुजरात न केवल सबसे मुक्त राज्य है बल्कि उसमें तेजी से सुधार (0.46 से 0.65) भी हुआ है।

तेजी से सुधार के मामले में दूसरा राज्य आंध्र प्रदेश 0.4 से 0.5 है।’’ अर्थशास्त्री अशोक गुलाटी, विवेक देबराय, लवीश भंडारी और पत्रकार स्वामीनाथन अय्यर ने संयुक्त रूप से तैयार की है। यह एक सूचकांक पर आधारित है जो सरकार के आकार, कानूनी ढांचा तथा संपत्ति अधिकारों की सुरक्षा तथा कारोबार एवं श्रम का नियम जैसे मानकों को ध्यान में रखकर तैयार की गई है। आम चुनावों से ठीक पहले जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि गुजरात ने आर्थिक स्वतंत्रता के मामले में 0.65 अंक पर शून्य से एक के बीच के साथ अपनी स्थिति मजबूत की है।

इस मामले में तमिलनाडु दूसरे स्थान पर रहा और उसे 0.54 अंक मिला है। उसके बाद क्रमश: आंध्र प्रदेश 0.50, हरियाणा 0.49, हिमाचल प्रदेश 0.47 तथा मध्य प्रदेश 0.47 का स्थान है। रिपोर्ट के अनुसार इस मामले में बिहार 0.31 अंक के साथ सबसे नीचे रहा। उसके बाद क्रमश असम 0.32 तथा झारखंड 0.33 का स्थान रहा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You