साम्प्रदायिक ताकतें तोड़ देंगी देश का सामाजिक तानाबाना: मुलायम

  • साम्प्रदायिक ताकतें तोड़ देंगी देश का सामाजिक तानाबाना: मुलायम
You Are HereNational
Wednesday, March 19, 2014-8:27 PM

लखनऊ: समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने आज कहा कि देश के सामने सबसे बड़ी चुनौती आगामी लोकसभा चुनाव में धर्मनिरपेक्ष अथवा फिरकापरस्त ताकतों को चुनने की है और साम्प्रदायिक शक्तियों के सत्ता में आने से देश का सामाजिक तानाबाना टूट जाएगा।

सपा प्रमुख ने यहां मुस्लिम उलमा तथा धर्मगुरुओं से मुलाकात के दौरान कहा कि गुजरात के विकास का झूठ सामने आने के बाद जनता मुसलमानों के कत्लेआम के लिए मोदी को कभी माफ नहीं करेगी। आज देश के समाने सबसे बड़ी चुनौती है कि मतदाता धर्मनिरपेक्ष ताकतों को चुनेंगे या फिरकापरस्त शक्तियों को। उन्होंने कहा कि फिरकापरस्त ताकतों के सत्ता में आने देश की एकता और हिन्दू-मुस्लिम इत्तेहाद पर असर पड़ेगा और सामाजिक तानाबाना टूट जाएगा।

सपा के प्रान्तीय अध्यक्ष और राज्य के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस मौके पर कहा कि सपा हमेशा से कमजोर और अन्याय के शिकार लोगों के साथ खड़ी रही है। उसने समाज के सभी वर्गों के लाभ की योजनाएं शुरू की तो उसके खिलाफ कुप्रचार शुरू हो गया।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पहले से ही कमजोर हो चुकी है। बसपा का कथित भाईचारा पता नहीं कहां गुम हो गया है। भाजपा चालाक और फिरकापरस्त पार्टी है जो उत्तर प्रदेश में मोदी के सहारे सीटें जीतकर सत्ता में आना चाहती है। उसका विकास से कोई मतलब नहीं है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You