<

1962 हिमालयी भूल नहीं बल्कि नेहरूवादी भूल थी: जेटली

  • 1962 हिमालयी भूल नहीं बल्कि नेहरूवादी भूल थी: जेटली
You Are HereNational
Wednesday, March 19, 2014-8:33 PM

नई दिल्ली: चीन के साथ हुए 1962 के युद्ध के बारे में हैंडर्सन रिपोर्ट को गोपनीय बता कर 52 सालों से जनता की निगाहों से बचाने की आलोचना करते हुए भाजपा ने आज कहा कि हर देश को अपनी गलतियों से सीखने का हक है इसलिए उन्हें छिपाया जाना राष्ट्र के हित में नहीं है। पार्टी ने कहा जिस 1962 को हम बड़ी हिमालयी भूल समझते थे, रिपोर्ट से लगता है कि वह वास्तव में बड़ी नेहरूवादी भूल थी।

भाजपा के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली ने कहा, लीक हुई इस रिपोर्ट की सामग्री से कई वाजिब सवाल उठते हैं। उस समय की सरकार के सैन्य रणनीति पर गंभीर प्रश्न बनते हैं।

उन्होंने कहा कि रिपोर्ट के अनुसार तत्कालीन सरकार की ‘‘फारवर्ड पोस्ट’’ की सैन्य नीति देश के लिए नुकसानदायक साबित हुई क्योंकि उसके चलते चीन को भारत पर आक्रमण करने का बहाना मिल गया।

जेटली ने अपने ब्लाग में सवाल किया, ‘‘क्या जिस 1962 को हम बड़ी हिमालयी भूल कहते हैं वह वास्तव में बड़ी नेहरूवादी भूल थी?’’

 उन्होंने कहा कि लीक इस रिपोर्ट के तथ्य आज हमारे लिए भविष्य के संदर्भ में सबक साबित होंगे कि हम कैसे अपनी सैन्य तैयारियां करें और दुश्मन को कम करके कभी नहीं आंके।

भाजपा नेता ने कहा कि यह रिपोर्ट यह भी बताती है कि हमारी तैयारियों की कमी के चलते हमारे देश की उस सेना को भारी नुकसान उठाना पड़ा जिसकी दुनिया की सर्वश्रेष्ठ सेनाओं में गिनती होती है। ‘‘क्या हम 1962 की गलती से सबक लेने को तैयार हैं?’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You