फिर नाराज हुए BJP के 'भीष्म पितामह' आडवाणी, मनाने पहुंचे मोदी

You Are HereNational
Thursday, March 20, 2014-12:47 PM

नई दिल्ली: भाजपा ने बुधवार को लोकसभा चुनाव के लिए 67 उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है। गांधीनगर से भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी की सीट पर फैसला हो गया है तो दूसरी तरफ वडोदरा से भाजपा के पीएम इन वेटिंग नरेंद्र मोदी को टिकट दिया गया है लेकिन इतनी लंबी जद्दोजहद के बाद भी आडवाणी अपनी सीट को लेकर नाराज हैं और उनकी नाराजगी ने एक बार फिर भाजपा को बैकफुट पर ला दिया है। आडवाणी भोपाल सीट से ही चुनाव लड़ने पर अड़ गए हैं।

 

आडवाणी इस बात पर अड़े हुए थे कि उन्हें कई अन्य नेताओं की तरह अपनी पसंद के निर्वाचन क्षेत्र का चुनाव करने का अधिकार होना चाहिए क्योंकि कई अन्य नेताओं को भी उनकी पसंदीदा सीटें दी गई हैं और वे भोपाल से ही चुनाव लड़ना चाहते हैं। भाजपा के कई बड़े नेता आडवाणी को मनाने की तमाम कोशिश कर रहे हैं। मोदी भी आज सुबह आडवाणी के सरकारी निवास पर उन्होंने मनाने पहुंचे। मोदी ने घंटे भर आडवाणी से मुलाकात की लेकिन स्पष्ट नहीं हो पाया है कि आडवाणी की नाराजगी खत्म हुई है या नहीं।

 
गौरतलब है कि पार्टी की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज और नितिन गडकरी भी बुधवार को आडवाणी से उनके आवास पर मुलाकात की और उन्हों मनाने में काफी माथापच्ची की। यह मुलाकात करीब 45 मिनटों तक चली और इस दौरान आडवाणी को मनाने की कोशिश की लेकिन वे नहीं माने। आडवाणी से मुलाकात के बाद सुषमा और गडकरी ने भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह से मिले तथा उन्हें पार्टी के वरिष्ठ नेता की अप्रसन्ना से अवगत कराया। इसी बाबत बुधवार को मोदी राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के झंडेवालान कार्यालय में संघ प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात की और इसमें आडवाणी की उम्मीदवारी एवं अन्य मुद्दों पर चर्चा की गई थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You