<

क्या पूर्वोत्तर भारत में विकसित हो रहा है हिन्दू वोट बैंक ?

  • क्या पूर्वोत्तर भारत में विकसित हो रहा है हिन्दू वोट बैंक ?
You Are HereNational
Friday, March 21, 2014-3:48 AM

नई दिल्ली : हम जानते हैं कि भाजपा इस बार हिन्दुत्व के मुद्दे को लेकर लोकसभा चुनाव नहीं लड़ रही मगर इस बार अगर कोई ऐसा क्षेत्र है जहां से हिन्दू वोट बैंक के उभरने की संभावना है, तो यह है पूर्वोत्तर भारत जिसमें पश्चिम बंगाल, असम और बिहार के राज्य शामिल हैं। यहां तक कि मुसलमानों ने भी बहुत से राज्यों में वोट बैंक की तरह सोचना बंद कर दिया है क्योंकि उनके लिए विकास ही मुख्य मुद्दा बन गया है। जनसंख्या में बदलाव भी पूर्वोत्तर भारत में कुछ हिन्दुओं के बीच बड़ी चिंता का विषय बना हुआ है। बंगलादेश से घुसपैठ के जारी रहने और मुसलमानों के बीच जन्मदर बढऩे से इन सभी 3 राज्यों के बहुत से जिले मुस्लिम बाहुल्य बन गए हैं जिससे हिन्दू अल्पसंख्यकों में चिंता बढऩी स्वाभाविक है।

पश्चिम बंगाल में 3 जिले मालदा, मुशदाबाद और उत्तरी दिनाजपुर मुस्लिम बाहुल्य हैं। 7 और जिलों में मुसलमानों की संख्या 25 से 35 प्रतिशत है जिनमें बीरभूम, नाडिया हावड़ा, कूच बिहार उत्तर और दक्षिण परगना एवं दक्षिण दिनाजपुर शामिल हैं। असम में 6 या 7 जिलों में मुस्लिम बाहुल्य जिले हैं। बिहार में किशनगंज ही एकमात्र जिला मुस्लिम बहुल है। 4 जिलों में मुसलमानों की संख्या 30 से 37 प्रतिशत है। कुछ हिन्दू मतदाता पर्याप्त संख्या में हैं। यही कारण है कि असम में भाजपा अकेले ही चुनाव लडऩे के मूड में है और उसने असम गण परिषद को नकार दिया है। बिहार में भी भाजपा को उम्मीद है कि वह नीतीश कुमार के बिना अच्छा प्रदर्शन करेगी, यद्यपि उसने पासवान की लोजपा के साथ गठबंधन किया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You