अमृतसर बना अग्निपथ अरुण V/S अमरेन्द्र

  • अमृतसर बना अग्निपथ अरुण V/S अमरेन्द्र
You Are HereAmritsar
Saturday, March 22, 2014-5:03 AM

नई दिल्ली: अमृतसर लोकसभा सीट पर इस बार दो दिग्गज नेताओं के बीच मुकाबला होगा क्योंकि कांग्रेस ने यहां भाजपा के वरिष्ठ नेता अरूण जेटली के खिलाफ अमरिंदर सिंह को अपने उम्मीदवार के तौर पर चुनाव मैदान में उतारने की आज घोषणा की। पार्टी महासचिव अंबिका सोनी के बारे में भी एक चौंका देने वाली घोषणा की गई जो अकाली दल के नेता प्रेम सिंह चंदूमाजरा के खिलाफ आनंदपुर साहिब सीट पर चुनाव मैदान में उतरेंगी। हालांकि, सूचना एवं प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी की संसदीय सीट लुधियाना को लेकर दुविधा बनी हुई है, जो बीमार पड़ गए थे और उन्हें पिछले हफ्ते शहर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

पार्टी ने उनकी उम्मीदवारी की घोषणा नहीं की है जबकि उसकी पांचवी सूची भी जारी हो गई है और 389 उम्मीदवार घोषित किए जा चुके हैं। सूत्रों के मुताबिक तिवारी के नाम को कल पार्टी ने मंजूरी दे दी लेकिन घोषणा रोक ली गई क्योंकि यह स्पष्ट नहीं है कि वह चुनाव लडऩे के लिए शारीरिक रूप से स्वस्थ हैं या नहीं। अमरिंदर को जेटली के खिलाफ उतारने के साथ कांग्रेस ने यह बिल्कुल स्पष्ट कर दिया है कि उसकी योजना नरेन्द्र मोदी सहित भाजपा के सभी शीर्ष नेताओं के खिलाफ मजबूत उम्मीदवार उतारने की है।

सूत्रों ने बताया कि पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी चाहते हैं कि यह छवि नहीं बननी चाहिए कि कांग्रेस भाजपा से सीधी टक्कर लेने से बच रही है और दमदार क्षेत्रीय मौजूदगी रखने वाले सभी नेताओं को चुनाव लडऩे का सुझाव दिया गया है। गौरतलब है कि पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर अमृतसर सीट से चुनाव लडऩे को इच्छुक नहीं थे और उन्होंने कल सुझाव दिया था कि किसी स्थानीय उम्मीदवार को वहां उतारना चाहिए। पर, माना जा रहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के एक फोन कॉल ने इस सीट का सारा नजारा बदल दिया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You