जबरदस्ती जुर्म कबूलवाने पर पुलिस को कारण बताओं नोटिस

  • जबरदस्ती जुर्म कबूलवाने पर पुलिस को कारण बताओं नोटिस
You Are HereNational
Monday, March 24, 2014-6:22 PM
 नई दिल्ली : हाईकोर्ट ने दो युवकों की याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। दरअसल परवेश नगर निवासी विजेंद्र की 26 अगस्त 2013 को हत्या हो गई थी। पत्नी से मनमुटाव होने के कारण वह अपने भाई और भांजों के साथ रहता था।
 
मामला जब पुलिस के पास पहुंचा तो बाहरी दिल्ली के अमन विहार थाने में पुलिस ने हत्या के शक में अनिल और सुनिल को पांच दिनों तक  थाने में रखकर उन्हेें बुरी तरह से पीटा और फिर बाद में छोड़ दिया। इस घटना के बाद पीड़ितों ने याचिका दायर कर अमन विहार एसएचओ महेंद्र, अतिरिक्त एसएचओ राकेश, पुलिसकर्मी दीपक, एसआई भूपेश और सुखेंदर पर मारपीट व अवैध हिरासत में छह दिनों तक रखने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की।
 
अदालत ने उनकी याचिका पर सुनवाई के बाद दिल्ली पुलिस के बाहरी जिला उपायुक्त को नोटिस जारी कर 28 अप्रैल तक रिपोर्ट पेश करने का दिया है। जबकि कोर्ट ने डीसीपी को कारण बताओं नोटिश भी जारी किया है। दरअसल पीड़ित पक्ष ने  पुलिस पर  आरोप लगाय है कि पुलिस की  पिटाई से अनिल के पैर की नसें टूट गई हैं। पुलिस ने इसे इतना मारा कि तीन महीने बाद भी जमीन पर बैठने में असमर्थ है। जबकि पुलिस असली अपराधियों को पकडऩे में नाकामयाब रही है। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You