मोदी को खुश करने के लिए अमेरिका देगा नैंसी पॉवेल की बलि!

  •  मोदी को खुश करने के लिए अमेरिका देगा नैंसी पॉवेल की बलि!
You Are HereAmerica
Tuesday, March 25, 2014-12:59 PM

वॉशिंगटन: अमेरिका कई सालों तक नरेंद्र मोदी को अछूत घोषित किए रखने के बाद अब उन्हें खुश करने के लिए अपनी नीतियों को बदलने जा रहा है। इससे पहले अमेरिका ने अपनी राजदूत नैंसी पॉवेल को मोदी साथ मिलने भेजा था, लेकिन अब अमेरिका उनकी हमेशा के लिए छुट्टी करने जा रहा है।

अंग्रेजी अखबार हिन्दुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिका, भारत में एक नया राजदूत नियुक्त करने जा रहा है ताकि वह नई सरकार के साथ मिलकर काम कर सके। भारत के साथ नए सिरे से रिश्ते बनाने के लिए नैंसी पॉवेल की जगह एक राजनीतिज्ञ को यह महत्वपूर्ण पद दिया जा सकता है।

अखबार के अनुसार, अमेरिका, भारत के साथ अपने रिश्तों को ठीक करने के लिए पॉवेल को हटा सकता है। अमेरिका दोनों ही देशों के बीच के बिगड़े रिश्तों को ठीक करना चाहता है। फिलहाल पॉवेल को हटाने के बारे में अभी कोई तिथि तय नहीं हुई है। ऐसा समझा जा रहा  है कि लोकसभा चुनाव के बाद यानी 16 मई के बाद अमेरिका इस बारे में कदम उठाएगा।

मजे की बात यह है कि अमेरिका को यह लग रहा है कि यहां मोदी की सरकार बनने पर मोदी के अमेरिका आने पर लगी रोक से दोनों देशों के पारस्परिक संबंधों में दरार आ जाएगी। भाजपा के एक बड़े नेता ने अखबार को बताया कि पॉवेल पीएम कैंडिडेट नरेंद्र मोदी के प्रति बहुत ठंडा रुख रखती हैं, इसलिए उनका हटाया जाना लगभग तय है।

यह माना जाता है कि पॉवेल ने अमेरिका को मोदी पर लगे वीजा बैन को हटाने नहीं दिया, जबकि दूसरे पश्चिमी देशों ने यह कदम उठा लिया साथ ही यह भी कहा जाता है कि वह गुजरात के मुख्यमंत्री को मिलने से टाल-मटोल कर रही थीं।

मोदी को लगता है कि पॉवेल यूपीए की विदेश नीति के काफी नजदीक हैं। वे गांधीनगर जाना नहीं चाहती थीं, लेकिन इसके जवाब में अमेरिकी सूत्रों का कहना है कि पॉवेल पर यूपीए सरकार का दबाव था कि वह मोदी से ना मिलें। लेकिन अब पॉवेल को हटा देने से मोदी के खेमे को शांत किया जा सकता है।
 
एक राजनयिक ने कहा कि किसी राजनयिक का राजनितिक उद्देश्यों के लिए की बलि चढ़ जाना उसके करियर का हिस्सा होता है। दोनों देशों के रिश्तों में देवयानी खोबरागड़े के कपड़े उतारकर तलाशी लेने के मामले से भी दरार आई है। इस मामले में अगर पॉवेल चुस्ती दिखाती तो मसला हल हो सकता था, लेकिन उन्होंने कुछ नहीं किया।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You