<

बस सेवा दो, वरना नहीं देंगे वोट

  • बस सेवा दो, वरना नहीं देंगे वोट
You Are HereNcr
Tuesday, March 25, 2014-4:29 PM

 नई दिल्ली (राजेश रंजन सिंह) :  देहात दिल्ली में अब भी परिवहन व्यवस्था लचर है। नजफगढ़ से नरेला उपनगरी को जोडऩे वाली डी.टी.सी की बस संख्या 708 सिर्फ नाम के लिए परिचालित हो रही है। घंटो इंतजार के बाद भी बसें न आने से लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। यह एकमात्र बस सुविधा है, जो नजफगढ़ को नरेला से जोड़ती है। 

प्राइवेट चालक करते हैं मनमानी

इस रूट पर बस की कमी की का नाजायज फायदा प्राइवेट वाहन चालक उठाते हैं। रिक्शा वाले, ग्रामीण सेवा वाले यात्रियों से मनमाने ढंग से किराया वसूलते हैं। ये सेवाएं भी सीधी उपलब्ध नहीं होती। लोगों को टुकड़ों में यात्रा करनी पड़ती है। लोगों को मजबूरन प्राइवेट वाहन चालकों को मनमानी रकम चुकानी पड़ती है। 

बस के फेरे कम

दिल्ली परिवहन निगम की ओर से 708 का परिचालन नजफगढ़ से नरेला को जोडऩे के लिए किया जाता है। यह नजफगढ़ से होते हुए रणहोला, नांगलोई, मुंडका, घेवरा, कंझावला होते नरेला को जाती है। नरेला में औद्योगिक   क्षेत्र  होने के कारण रोजाना हजारों की संख्या में लोग इस रूट पर आवाजाही करते हैं, लेकिन वर्तमान में 708 नम्बर की बस के फेरे यात्रियों के हिसाब से काफी कम हैं।  

इससे लोगों  को ज्यादा  किराया  देकर  जाने को मजबूर  होना पड़ रहा है। समस्या तब और गम्भीर हो जाती है जब यह बस एक लंबे अंतराल के बाद आती है और लोगों को उसमें भी जगह नहीं मिलती। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You