भाजपा भी बाहरी प्रत्याशियों पर हुई निर्भर

  • भाजपा भी बाहरी प्रत्याशियों पर हुई निर्भर
You Are HereUttar Pradesh
Wednesday, March 26, 2014-12:31 AM

फतेहपुर: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में विधानसभा सीट पर विक्रम सिंह को दिए टिकट को लेकर एक बार फिर अंर्तद्वंद तेज होता नजर आ रहा है। मोदी मिशन में दागी प्रत्याशी चर्चा का विषय बन रहे हैं। इनकी चर्चाएं केवल पार्टीजनों तथा राजनीतिकों तक ही नहीं सीमित है, बल्कि आम जनता की भी ऐसे छवि के लोग चौपाल की चर्चा का विषय बनते जा रहे हैं।

वर्तमान चुनावी परिदृश्य में जिस तरह से मोदी मिशन को लेकर भाजपा हवा बनाने में जुटी है। ठीक इसके विपरीत स्थानीय नाराज भाजपा कार्यकर्त्ता मोदी मिशन में ऐसे प्रत्याशियों की हवा निकालने में जुट गए हैं। चुनाव के ऐन वक्त भाजपा का अंर्तद्वंद्व थमने का नाम नहीं ले रहा है। जनता में भी दोनों प्रत्याशियों के बाहरी होने की बात बहस का मुद्दा है।

आम आदमी तो यहां तक कहने लगा कि स्थानीय भाजपा नेता क्या इस काबिल नहीं रह गए कि उन्हें पार्टी चुनाव मैदान में उतार सके या फिर जनपद को बड़े नेताओं ने चारागाह समझ लिया है। वैसे तो बसपा एवं सपा ने भी बाहरी प्रत्याशी जनपद की लोकसभा सीट को फतह की तरजीह दी है, लेकिन उसकी चर्चा केवल कुछ मतदाताओं के बीच ही होती नजर आती है।

भाजपा के टिकट के लिए लोकसभा एवं विधानसभा स्तर पर बड़ी संख्या में स्थानीय प्रत्याशियों ने आवेदन किया था, किंतु हाईकमान ने न तो लोकसभा टिकट के लिए स्थानीय प्रत्याशी पर विश्वास किया और न ही विधानसभा टिकट के लिए ही स्थानीय पर भरोसा जताया। यह पहला अवसर है जब भाजपा भी बाहरी प्रत्याशियों पर निर्भर हुई है। पूर्व में भाजपा प्रत्याशी स्थानीय ही होता रहा है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You