<

काले धन के मुद्दे पर गोविन्दाचार्य पहुंचे EC

  • काले धन के मुद्दे पर गोविन्दाचार्य पहुंचे EC
You Are HereNational
Wednesday, March 26, 2014-12:57 AM

नई दिल्ली: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पूर्व विचारक गोविन्दाचार्य ने आज चुनाव आयोग पहुंचकर मांग की कि लोकसभा चुनावों में काले धन का इस्तेमाल रोकने के उद्देश्य से राजनीतिक विज्ञापनों के लिए इंटरनेट कंपनियों और विज्ञापन एजेंसियों को दिए जाने वाले धन का एक अलग रिकॉर्ड रखा जाना चाहिए। उनके साथ कार्यकर्त्ता जगदीश शेट्टिगर और पीवी राजगोपाल भी थे।

चुनाव आयोग को सौंपे गए एक ज्ञापन में कहा गया कि वित्त मंत्रालय और भारतीय रिजर्व बैंक को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया जाए कि वे इंटरनेट कंपनियों, सोशल मीडिया साइटों और विज्ञापन एजेंसियों को राजनीतिक विज्ञापनों के लिए दिए जाने वाले सभी लेनदेन और धन का अलग से बही खाता रखें।

ज्ञापन में कहा गया, ‘‘कई बार विदेशी समर्थक भारत में चुनाव अभियान के लिए इंटरनेट कंपनियों को सीधा भुगतान करते हैं, जिसकी प्रवर्तन निदेशालय और अन्य एजेंसियों द्वारा जांच किए जाने की आवश्यकता है। काले धन के इस्तेमाल को कम करने के साथ ही यह कदम चुनावी उद्देश्यों के लिए पेड न्यूज पर भी रोक लगाएगा।’’ इसमें दावा किया गया कि ‘‘विदेशी ताकतें’’ विभिन्न इंटरनेट कंपनियों के जरिए चुनावी प्रक्रिया को प्रभावित करने की कोशिश कर सकती हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You