आतंकियों के स्लीपर सैल से उठ सकता है पर्दा

  • आतंकियों के स्लीपर सैल से उठ सकता है पर्दा
You Are HereNcr
Wednesday, March 26, 2014-12:58 PM

नई दिल्ली(कुमार गजेन्द्र/ महेश चौहान/ कृष्ण कुणाल सिंह): इंडियन मुजाहिद्दीन के कुख्यात आतंकवादी तहसीन अख्तर की गिरफ्तारी से एक बार फिर दिल्ली पुलिस और सुरक्षा एजैंसियों की बाछें खिल गई हैं। सुरक्षा एजैंसियों के लिए आतंकवाद की राह में सबसे बड़ा रोड़ा, आतंकी संगठनों के स्लीपर सैल होते हैं लेकिन इस बार पुलिस और जांच एजैंसियों को लग रहा है कि तहसीन के पकड़े जाने के बाद स्लीपर सैल के राज से पर्दा उठ जाएगा।


दिल्ली पुलिस के एक आला अधिकारी की मानें तो भारत के अंदर सिम्मी लगातार आतंकी संगठनों के लिए स्लीपर  सैल का काम करता रहा है। इस बात का खुलासा स्पैशल सेल के विशेष आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने भी किया है। बताया जाता है कि तहसीन लंबे समय से आईएम के लिए काम कर रहा था, वह लगातार पाकिस्तान आता-जाता रहा है, इसलिए उसे जानकारी है कि भारत में खासतौर से दिल्ली में गुप्त रूप से आतंकियों की मदद कौन करता है।

सूत्रों की मानें तो पाकिस्तानी खुफिया एजैंसी स्लिपर सेल के लोगों पर भी लगातार मेहरबानी दिखाती रहती है। स्लिपर सैल में शामिल लोग जब भी पाकिस्तान जाते हैं, उन्हें आई.एस.आई. की ओर से विशेष दर्जा प्राप्त होता है।
कई बार तो हवाला की रकम भी स्लिपर सैल के लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए भारत भेजी जाती थी। इसके अलावा किसी भी बड़े काम से पहले अलग-अलग स्थानों पर सक्रिय स्लीपर  सैल के लोगों को एक साथ मोटी रकम भेजी जाती थी।
पुलिस तहसीन और वकास की गिरफ्तारी के बाद मान कर चल रही है कि आतंकियों को गुप्त रूप से मदद करने वाले कुछ बड़े लोग जल्दी ही पुलिस के शिकंजे में होंगे। पुलिस ने पूछताछ के अलावा तहसीन वकास और उसके साथियों की मोबाइल लोकेशन को भी ट्रेप करना शुरू कर दिया है, ताकि किस तारीख में यह आतंकी किस स्थान पर थे, इस बात को साबित किया जा सके। पुलिस का मानना है कि तहसीन को मालूम था कि चाक-चौबंद सुरक्षा के चलते दिल्ली में वारदात करना बेहद मुश्किल काम था, इसलिए तहसीन राजस्थान और बिहार जैसी स्थानों पर बड़े हमले करने की फिराक में था। यह स्थान इसलिए भी चुने गए थे कि हमले के बाद आसानी से  पाकिस्तान या नेपाल निकला जा सकता था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You