झारखंड रैली- माओवादियों के हाथों में बंदूक नहीं, हल होना चाहिए: मोदी

  • झारखंड रैली- माओवादियों के हाथों में बंदूक नहीं, हल होना चाहिए: मोदी
You Are HereBihar
Thursday, March 27, 2014-3:41 PM

नई दिल्ली: भाजपा के पीएम इन वेटिंग नरेंद्र मोदी का लोकसभा चुनावों के लिए 'भारत विजय रैली' अभियान बुधवार से शुरू हो गया। मोदी की अलग-अलग जगहों में कुल 185 रैलियां होनी हैं। झारखंड के गुमला में रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि झारखंड अमीर लेकिन यहां के लोग गरीब। झारखंड के लोगों को रोजगार के लिए प्रदेश के बाहर जाना पड़ता है। शिक्षा का अभाव है।

झारखंड के गुमला में मोदी की रैली

मोदी ने कहा कि झारखंड के किसानों को पानी नहीं मिलता। यहां की मिट्टी ऐसी है कि किसान भाईयों को पानी मिले, तो मिट्टी सोना उगल सकती है। कांग्रेस पर हमला करते हुए मोदी ने कहा कि सरकार की गलत नीतियों की वजह से झारखंड में विकास नहीं हो पाया है। उन्होंने कहा कि अब भारत  महंगाई, बेरोजगारी पर विजयी होना चाहता है। भ्रष्टाचर पर बोलते हुए मोदी ने कहा कि ये बुराई वादों से नहीं इरादों से खत्म होगी। कांग्रेस को आदिवासियों की चिंता नहीं है।

कांग्रेस पर तीखा प्रहार
भ्रष्टाचार को लेकर कांग्रेस पर तीखा प्रहार करते हुए प्रधानमंत्री पद के लिए भाजपा के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर अपने घोषणापत्र में गलत वायदा करने का आरोप लगाया। खानों की बहुलता वाले इस राज्य में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए नरेंद्र मोदी ने आरोप लगाया कि भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने पृथक झारखंड राज्य के गठन की मांग का उपहास किया था। उन्होंने ऊर्जा परियोजनाओं को मंजूरी देने में कथित भ्रष्टाचार पर संप्रग सरकार को आड़े हाथों लिया और पूर्व पर्यावरण मंत्री जयंती नटराजन पर हमला करते हुए ‘जयंती टैक्स’ विशेषण का उपयोग करते हुए चुटकी ली।

झारखंड के लोहरदगा में मोदी की रैली
झारखंड के लोहरदगा में बोलते हुए मोदी ने कहा कि माओवादियों के हाथों में बंदूक नहीं, हल होना चाहिए, जिससे भूखे गरीबों का पेट भर सके। गौरतलब है कि आज मोदी की चार रैलियां हैं। झारखंड में दो और बिहार में दो रैलियां। मोदी ने झारखंड के लोहरदगा और गुमला में दो रैलियां की।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You