पित्रोदा ने कबूला-यू.पी.ए. में है घालमेल

  • पित्रोदा ने कबूला-यू.पी.ए. में है घालमेल
You Are HereNational
Thursday, March 27, 2014-10:10 AM

मुम्बई: प्रधानमंत्री के सलाहकार सैम पित्रोदा ने स्वीकार किया है कि यू.पी.ए. सरकार में घालमेल है और उसने वोडाफोन सहित कुछ गलत फैसले लिए हैं। सरकार के टैलीकॉम कम्पनी एम.एन.सी. पर पिछली अवधि से कर लगाने के फैसले से विश्व के निवेशक समुदाय में रोष है जो महसूस करता है कि यह एक परस्पर विरोध नीति का उदाहरण है। कांग्रेस द्वारा यहां आयोजित एक बैठक को आयोजित करते हुए पित्रोदा ने कहा कि प्रशासकीय श्रमिक कानूनी राजनीतिक सुधारों की बहुत जरूरत है।

ये राजनीतिक इच्छा के अभाव में लागू नहीं किए जा सके। उन्होंने आरोप लगाया कि एक गठबंधन सरकार चलाने में कठिनाई होती है जिससे कई बार महत्वपूर्ण फैसले लागू नहीं हो पाते। उन्होंने सरकार में ‘एच.आर.’ की अनुपस्थिति को भी दोषी ठहराया। उन्होंने कहा कि सरकार में आप किसी पर भी बुरा काम करने या काम नहीं करने का दोष नहीं लगा सकते, यद्यपि यू.पी.ए. सरकार में बुजुर्ग प्रधानमंत्री हैं। पित्रोदा ने कहा कि अगर आपको 40 वर्ष के नौजवान की सरकार मिल जाए तो वह अच्छा शासन देगी।  आप 70 वर्ष के बुजुर्ग के नेतृत्व में सरकार बनाएंगे तो वह अच्छा काम नहीं कर पाएगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You